बिजनौर

नजीबाबाद में खोया मोबाईल पाकर व्यक्ति बोला ज़िंदा है अभी इंसानियत, आमिल ने लौटाया मोबाइल

ब्यूरो रिपोर्ट

बिजनौर/नजीबाबाद: आजकल मोबाइल जिंदगी की एक अहम कड़ी बन चुका है और करीब करीब सभी लोग अब दस्तावेज साथ लेकर घूमने की बजाय मोबाईल मे रखते हैं। चाहे बैंक खाते की डिटेल हो या कुछ और डाक्यूमेंट। लेकिन कभी आपने सोचा है कि यदि आपका मोबाइल कहीं गिर जाए तो आपका क्या हाल होगा और आपको कैसा लगेगा, शरीर अधमरा हो जाएगा लेकिन, उसके बाद ये भी सोचिये की अगर आपको गिरा हुआ मोबाईल वापिस मिल जाये तो आपकी जान में जान आ जायेगी।
जी हां ऐसा ही कुछ हुआ है बिजनौर के नजीबाबाद में जहां साहनपुर निवासी राजीव शर्मा का मोबाईल साहनपुर जाते वक्त मालन नदी के रपटे पर गिर गया। जैसे ही राजीव शर्मा साहनपुर पहुंचे तो आदतन अपना हाथ जेब मे फोन निकालने के लिये डाला लेकिन राजीव शर्मा की जेब मे मोबाइल नही था। जेब मे मोबाईल न पाकर राजीव शर्मा के होश फाख्ता हो गये वो आनन फानन में पुलिस चौकी साहनपुर पहुंचे और फोन खोने की शिकायत दर्ज कराने लगे लेकिन चौकी इंचार्ज कमलकिशोर ने ततपरता दिखाते हुए जब उक्त नम्बर पर बात की तो मौ0 आमिल अंसारी ने फोन रिसीव करके चौकी इंचार्ज को बताया कि फोन उनके पास है और उन्हें मालन नदी के रपटे से मिला है, राजीव शर्मा को जब चौकी इंचार्ज ने ये बात बताई तो शर्मा जी तुरन्त अपना मोबाईल लेने मौ0 आमिल के पास पहुंच गए और राजीव शर्मा की जान में जान आई। फोन लेते हुए राजीव शर्मा बोले इंसानियत और ईमानदारी आज भी जिंदा है जिसका जीता जागता सबूत मौ0 आमिल अंसारी हैं जिन्होंने 15000 मूल्य का फोन वापिस कर दिया। राजीव शर्मा ने आमिल का धन्यवाद दिया और अपना फोन पाकर खुशी खुशी वापिस चले गए। उधर चौकी इंचार्ज कमल किशोर ने भी मौ0 आमिल की तारीफ करते हुए कहा कि समाज मे आमिल जैसे लोग मिलना मुश्किल हैं जो बिना किसी लालच के दूसरे की परेशानियों को समझते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *