उत्तर प्रदेश

मैं UP STF को धन्यवाद देता हूँ क्योंकि उन्होने मुंबई से यूपी लाते वक़्त मेरा एनकाउंटर नहीं किया – डॉक्टर कफील खान

मौ0 तारिक अंसारी

न्यूज़ एडिटर (mtvbharat.com)

 

मथुरा/लखनऊ: डॉ. कफील खान एक ऐसा नाम जिसकी रिहाई के लिए देश के लोग दुआएं कर रहे थे और लगातार उनके लिए सोशल मीडिया पर आंदोलन छेड़े हुए थे | डॉ. कफील खान 2017 में उस समय चर्चा में आए थे, जब गोरखपुर में बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 60 से ज्यादा बच्चों की मौत एक सप्ताह के अंदर हो गई थी। तब डॉ. खान को सस्पेंड कर दिया गया था। उन्हें इंसेफेलाइटिस वार्ड में अपनी ड्यूटी में लापरवाही बरतने और निजी प्रैक्टिस करने के आरोप में गिरफ्तार भी किया गया था। हालांकि, पिछले साल उन्हें अदालत ने सभी आरोपों से बरी कर दिया था। फिर डॉ. कफील खान को गोरखपुर के गुलहरिया थाने में दर्ज केस के सिलसिले में 29 जनवरी 2020 को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। जेल में रहते हुए रासुका की तामील कराई गई। हाल ही में उनकी हिरासत बढ़ा दी गई थी।

लेकिन कोर्ट मे सुनवाई और दलीलों के बाद 1 सितंबर 2020 को हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर की बेंच ने कफील पर लगाए एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) को भी रद्द कर दिया। और अलीगढ़ प्रशासन की ओर से लगाए गए एनएसए को रद्द करते हुए डॉक्टर कफील को तत्काल जेल से ज़मानत पर रिहा करने का आदेश दिया गया । और उन्हें देर रात करीब 12.15 बजे जेल से रिहा कर दिया गया।

मथुरा जेल रिहाई के बाद डॉ. कफील ने कहा कि सभी का धन्यवाद, जिन्होंने मेरा साथ दिया। उन्होंने कहा कि हाई कोर्ट ने आदेश में लिखा है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने ड्रामा करके एक झूठा और बेबुनियाद केस बनाया, जिसके तहत मुझे आठ महीने तक जेल में प्रताड़ित किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें पांच दिन तक खाना-पानी नहीं दिया गया। प्रताड़ित किया जाता था। यूपी पुलिस पर तंज कसते हुए डॉ. कफील खान ने कहा कि वह यूपी एसटीएफ को धन्यवाद देते हैं, जिन्होंने मुंबई से यहां लाते वक्त मेरा एनकाउंटर नहीं किया। उन्होंने आशंका जताई है कि यूपी सरकार उन्हें किसी और मामले में फंसा सकती है।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ”आज इलाहाबाद हाई कोर्ट ने डॉ. कफील के ऊपर से रासुका हटाकर उनकी तत्काल रिहाई का आदेश दिया | आशा है कि यूपी सरकार डॉ कफील खान को बिना किसी विद्वेष के अविलंब रिहा करेगी| डॉ कफील खान की रिहाई के प्रयासों में लगे तमाम न्याय पसंद लोगों व उप्र कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को मुबारकबाद”

https://twitter.com/priyankagandhi/status/1300688942337990656

आपको बता दें उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने जारी एक बयान में कहा था कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार शरारतन डॉ कफील का उत्पीड़न कर रही है। योगी के गृह जनपद गोरखपुर में दिमागी बुखार से जब  मासूम ऑक्सीजन के अभाव में थे, उस वक़्त दिन रात एक करके उन्होंने मासूमो की सेवा करके सैंकड़ों मासूमो की जान बचाई थी। इस दौरान उन्होंने गोरखपुर की जर्जर हो चुकी स्वास्थ्य व्यवस्था को उजागर किया था जिसके चलते सूबे के मुख्यमंत्री योगी उनसे व्यक्तिगत रूप से नाराज़ हैं जिसके चलते  डॉ कफील खान को योगी सरकार प्रताड़ित कर रही है और वो योगी के गृह जनपद की जर्जर होती स्वास्थ्य विभाग की खामियां उजागर करने की सजा पा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *