प्रदेश

18 नवम्बर से 13 दिसम्बर तक लगेगा ददरी मेला सीडीओ ने कहा मेले में प्लास्टिक का प्रयोग एकदम नहीं हो सफाई सड़क पेयजल व प्रकाश के सम्बन्ध में दिए निर्देश

रिपोर्ट:-संजय कुमार तिवारी

 

बलिया: ददरी मेले के आयोजन के सम्बन्ध में सीडीओ प्रवीण वर्मा ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक की। उन्होंने कहा कि 18 नवम्बर से 13 दिसम्बर तक कुल 25 दिनों तक यह मेला लगेगा। सीडीओ ने कहा कि मेले में यह सुनिश्चित किया जाए कि प्लास्टिक का प्रयोग एकदम नहीं हो।बताया कि मेला को चार सेक्टर में बांटा गया है। साफ सफाई के लिए 75 सफाई कर्मचारी लगे होने की जानकारी मिलने पर ईओ को निर्देश दिया कि इनकी संख्या बढ़ाकर 150 से अधिक की जाए। मेले में पर्याप्त कूड़ादान व मोबाईल शौचालय की व्यवस्था हो।गंगा घाट पर महिलाओं के लिए कपड़े बदलने के लिए उचित व्यवस्था की जाए। मेला में सड़क, पानी, प्रकाश की समुचित व्यवस्था संग फॉगिंग मशीन भी चलवाते रहें। सुरक्षा के दृष्टिगत मेले के प्रवेश व निकास द्वार के अलावा बीच में कुछ महत्वपूर्ण जगहों पर सीसीटीवी कैमरा लगवाने के भी निर्देश दिए। पुलिस कंट्रोल रूम व पूछताछ केंद्र स्थापित करने को लेकर जरूरी दिशा निर्देश दिए।

दुकान आवंटन में नहीं मिलनी चाहिए कोई शिकायत दुकान आवंटित करने को लेकर सीडीओ ने कहा कि पूरी पारदर्शी प्रक्रिया अपनाते हुए दुकानों का आवंटन किया जाए। इसमें कहीं कोई शिकायत मिली तो उसे गंभीरता से लिया जाएगा। ​स्वास्थ्य विभाग को कैंप लगाने व एंबुलेंस की व्यवस्था रखने को निर्देशित किया। मेले में लगने वाले झूलों को समय—समय तक चेक करते रहने के निर्देश दिए। खाद्य सुरक्षा अधिकारी को निर्देश दिया कि मेले में खाने पीने की शुद्ध सामग्री ही उपलब्ध हो, यह सुनिश्चित कराएं।संसदीय खेल के आयोजन की रूपरेखा बनाने को लेकर हुई बैठक बलिया: संसदीय खेल के आयोजन की रूपरेखा तैयार करने के लिए सीडीओ प्रवीण वर्मा की अध्यक्षता में शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक हुई। बैठक में जिला क्रीडाधिकारी अतुल सिंहा ने बताया कि 17 वर्ष से कम एवं अधिक, दो आयु वर्गों की यह प्रतियोगिता ग्रामीण, ब्लॉक, तहसील, अंतर तहसील व जिला स्तर पर होगी। इसके लिए खेल व शिक्षा विभाग की कमेटी बनेगी, जो पूरी प्रतियोगिता को कराएगी। मुख्य विकास अधिकारी ने बैठक में मौजूद अधिकारियों से आयोजन की रूपरेखा पर चर्चा की। कहा कि आगामी 15 नवम्बर को फिर बैठक होगी, जिसमें संसदीय खेल के आयोजन की रूपरेखा पर अंतिम मुहर लगेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *