प्रदेश

अलीगढ़ छात्रों का भविष्य लगा दांव पर मुख्यमंत्री को खून से लिखा पत्र नहीं हुई कार्रवाई तो करेंगे आत्मदाह

रिपोर्ट:-मुकेश कुमार उपाध्याय

 

जहां एक ओर युवाओं को देश का भविष्य कहा जाता है वहीं दूसरी ओर अब उन्हीं युवाओं का भबिष्य दाव पर लगा हुआ है,यूनिवर्सिटी की अनदेखी और लचर व्यवस्था के चलते छात्रों ने सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ के नाम खून से पत्र लिखा है और छात्रों के भविष्य को अंधकार से बचाने की गुहार लगाई है।


विश्वविद्यालय आगरा की ओर से जारी विधि परीक्षाओं के परिणाम में फेल हुए 90 फीसद छात्रों के प्रकरण में नया मोड़ सामने आ गया है।पासिग मा‌र्क्स की मांग को लेकर अलीगढ़ में स्थित डीएस कॉलेज के पांच विधि छात्रों ने अपने खून से मुख्यमंत्री व कुलपति को पत्र लिखा है।

चेतावनी दी कि बुधवार तक छात्रहित में फैसला नहीं आया तो वे प्राचार्य कार्यालय के बाहर अपने प्राण त्यागने को मजबूर होंगे।इसके लिए कुलपति जिम्मेदार होंगे।छात्रनेता अमित गोस्वामी के नेतृत्व में विधि छात्रों ने आगरा यूनिवर्सिटी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था।

कुलपति प्रो.अशोक मित्तल ने बुधवार तक छात्रहित में फैसला करने का आश्वासन दिया था।सोमवार को मोहित चौधरी,विक्रम पंडित,गौरव,विकास उपाध्याय व गौरव दरगड़ ने कालेज में ही खून निकालकर पत्र लिखा।पत्र में लिखा कि कोविड दौर में अचानक विधि की परीक्षाएं ओएमआर शीट पर कराने का फरमान जारी किया गया।

इससे उनका भविष्य दांव पर लग गया है।छात्रनेता अमित गोस्वामी ने कहा कि छात्र अपने भविष्य को बचाने को अपना खून बहा रहा है।कुलपति को हिटलरशाही छोड़कर छात्र हितैषी होने का प्रमाण देना चाहिए।छात्रों के भविष्य को बचाने के लिए किसी भी स्तर पर आंदोलन करने को मजबूर होंगे।

गुरुवार से कॉलेज में अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन किया जाएगा।पांचों छात्रों ने ज्ञापन चीफ प्राक्टर डा. मुकेश भारद्वाज को सौंपा।चीफ प्राक्टर ने कहा कि छात्रों का ज्ञापन कुलपति व मुख्यमंत्री तक पहुंचाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *