फोटो

अल्पसंख्यक अधिकार दिवस है शोक दिवस- मोहम्मद इरफान खान पठान

(बलरामपुर)केन्द्र पुरोनिधानित मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों को पिछले पाँच साल से अधिक समय से मानदेय ना मिलने के कारण उनकी स्थिति काफी दयनीय हो गई है | आये दिन आधुनिकीकरण शिक्षक मानदेय ना मिलने से आहत होकर मौत के आगोश में समा रहे हैं |

मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक एकता समिति देवीपाटन मंडल के मंडल महासचिव मोहम्मद इरफान खान पठान ने बताया कि अल्पसंख्यक अधिकार दिवस हमारे लिए शोक दिवस है इस दिसम्बर माह में हुई बलरामपुर के उमानाथ सिंह, संभल की तरन्नुम बेगम, महाराजगंज के सुनील कुमार यादव, जितेंद्र कुमार गुप्ता समेत अब तक साठ से अधिक मदरसा शिक्षकों की मौत से दुखी मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षकों ने मदरसा आधुनिकीकरण शिक्षक एकता समिति के बैनर तले जनपद मुख्यालय पर जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन करते हुए अपने स्वर्गवासी साथियों के स्मरण में 2 मिनट का मौन रखकर अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए अपने 60 माह से लंबित मानदेय एवं अन्य मांगों को लेकर जिलाधिकारी महोदय की अनुपस्थिति में उनके प्रतिनिधि को माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार, माननीय केंद्रीय शिक्षा मंत्री भारत सरकार, माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार, माननीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को संबंधित ज्ञापन ज्ञापन सौंपा उक्त अवसर पर मदरसा आधुनिक शिक्षक एकता समिति के मंडल महासचिव मोहम्मद इरफान खान पठान ने बताया कि यदि सरकार हमारी मांगों को अनदेखा करती है तो हम सड़क से संसद तक प्रदर्शन को बाद होंगे अभी हमारे सिर्फ 60 सिपाही ही शहीद हुए हैं जब तक मदरसा आधुनिक शिक्षक एकता समिति का एक भी सिपाही जिंदा रहेगा तब तक अपने शिक्षक साथियो के लिए संघर्ष करता रहेगाl
उक्त अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी के श्री रईस अजहरी, मंडल अध्यक्ष अनवारूल हक,जिला अध्यक्ष राम प्रकाश वर्मा, जिला महामंत्री कलीम सिद्दीकी, पूजा रामपाल, मोहम्मद इकबाल फहीम, शाहिद अंसारी आदि भारी संख्या में मदरसा आधुनिक शिक्षक एवं पदाधिकारी उपस्थित रहेl

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *