प्रदेश

बदायूँ में कोविड कंट्रोल रूम में प्रशासनिक कॉल ही नही हुई रिसीव, जांच के आदेश

रिपोर्ट:-नियाज़ी खान

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोविड वायरस से प्रदेश को बचाने में लगे हैं जिसके चलते वह कोविड वायरस अपडेट की खुद निगरानी कर रहें लेकिन उसके बावजूद भी अधिकारी लापरवाही करने से बाज नही आ रहें है इसी क्रम में बदायूं में स्थापित कोविड सेंटर में शासन द्वारा की गयी काल को रिसीव नही किया गया जिसके बाद शासन ने अधिकारियों से जवाब तलब किया है आपको बता दें उत्तर प्रदेश में कोविड से संबंधित जानकारी लेने के लिए प्रदेश के कई जनपदों के डीएम और कंट्रोल रूम प्रभारियों को काल किया गया था जिनमें से कुछ जिलों के फोन रिसीव नही किए गए।


उत्तर प्रदेश में कोरोना के मरीजो की सांख्य लगातार बढ़ रही है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसको लेकर लगातार चिंतित है लेकिन लापरवाह अधिकारी लापरवाही करने से बाज नही आ रहे हैं इसी का नतीजा यह है की शासन के निर्देशो का पालन नही हो रहा है।


कोरोना वायरस जैसी खतरनाक वायरस से निबटने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के आदेश पर कोविड कंट्रोल रूम की स्थापना की गयी थी और कोविड संबंधी समस्याओं के लिए एक हेल्प लाइन नंबर जारी कर एक अधिकारी को उसका प्रभारी नियुक्त किया था शासन द्वारा कुछ दिन पहले इन नंबरों पर फोन करके चेक किया उन नंबरों पर फोन रिसीव हो रहें हैं या नही लेकिन शाशन द्वारा की गयी काल को बदायूं कोविड कंट्रोल रूम में रिसीव नही किया जिससे बदायूं कोविड केयर की लापरवाही उजागर हो गयी है।

जिस पर शासन ने लापरवाहो के खिलाफ लेटर जारी कर जवाब तलब कर नंबर सार्वजनिक करने के निर्देश दिए है वहीं इस पूरे मामले पर सीएमओ बदायूं ने बोलने से साफ इंकार कर दिया है सीएमओ का कहना है शासन की तरफ से मुझे गलत लेटर जारी किया गया है कोविड सेंटर की प्रभारी सीडीओ निशां अनंत है यह सब उनकी जिम्मेदारी है।

वही जब हमारे रिपोर्टर ने बदायूं जिले की सीडीओ निशां अनंत से बात करना चाही तो उन्होने कैमरे के सामने बोलने से मना कर दिया उन्होने कहाँ लेटर सीएमओ बदायूं को जारी किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *