उत्तर प्रदेश

बलिया मैं शान से मनी आजादी के अग्रदूत मंगल पांडे की जयंती

रिपोर्ट:-संजय कुमार तिवारी

 

दुबहड़, बलिया। बलिया 57 की क्रांति का परिणाम ही है देश में 1942 की महा क्रांति। फलस्वरूप ब्रिटिश हुकूमत की जड़े हिल गई। बलिया का नाम अंतरराष्ट्रीय पटल पर छा गया उक्त उद्गार सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने शहीद मंगल पांडे इंटर कॉलेज नगवां में शहीद मंगल पांडे की जयंती पर शनिवार को मंगल महोत्सव समारोह के दौरान बतौर मुख्य अतिथि व्यक्त किया।


कहा कि जब किसी देश की सभ्यता और संस्कृति खतरे में पड़ती है, तब युद्ध होता है। ब्रिटिश हुकूमत में अंग्रेजों द्वारा जब भारतीय सभ्यता और संस्कार पर हमला किया गया तब सनातन परंपरा के रक्षक किसान पुत्र मंगल पांडे ने अंग्रेजों के सीने पर गोली दाग कर अपने राष्ट्र धर्म की रक्षा के लिए शहादत दिया शहीद मंगल पांडे की क्रांति देश के शासन के साथ समाज में बदलाव की संकल्पना है। जब तक देश समृद्ध नहीं होगा तब तक देश का भविष्य अंधकार में ही रहेगा। विशिष्ट अतिथि संसदीय कार्य राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने कहा कि धरतीपुत्र शहीद मंगल पांडे ने अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए शहादत देकर पूरे भारतवर्ष में राष्ट्रप्रेम का जज्बा पैदा किया। ऐसे वीर पुरुष को भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का दर्जा प्राप्त होना चाहिए था। दिल्ली में उनके नाम पर विभिन्न मार्गों का नामकरण होना चाहिए। लेकिन पूर्ववर्ती सरकार ने ऐसा नहीं कर देश के साथ धोखा किया। सर्वप्रथम मुख्य अतिथि सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त एवं विशिष्ट अतिथि श्री शुक्ला ने शहीद मंगल पांडे के स्तंभ एवं चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित किया। इस मौके पर अतिथि ने कॉलेज में सर्वश्रेष्ठ स्थान प्राप्त छात्र छात्राओं को ट्रॉफी व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर शहीद मंगल पांडे के प्रपौत्र रघुनाथ पांडे, डॉक्टर शत्रुघ्न पांडे, विमल पाठक, अवध बिहारी चौबे, चंद्र प्रकाश पाठक, अवध बिहारी चौबे, पिंटू सिंह, राजू पांडे, राम प्रकाश सिंह, सुशील पांडेय, दयानंद उपाध्याय, मनीराम शर्मा, कमला शंकर ओझा, इरशाद अहमद आदि लोग मौजूद रहे। अध्यक्षता डॉ. जनार्दन राय व संचालन संजय प्रकाश पांडे तथा आभार प्रकट प्रबंधक डॉ बृकेश पाठक एवं प्रधानाचार्य रवि राय ने किया।आरओ प्लांट का लोकार्पण
नगवां इंटर कॉलेज में आयोजित मंगल महोत्सव के दौरान विधायक निधि से बनाए गए आरओ प्लांट का लोकार्पण किया। इस अवसर पर इंटर कॉलेज मे उपस्थित मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथि सहित दर्जनों गणमान्य अतिथियों का स्वागत विद्यालय के प्रबंधक डॉ बृजेश पाठक एवं प्रधानाचार्य रवि राय ने अंगवस्त्रम से सम्मानित करके किया।मंगल पांडे विचार मंच ने कुछ यूं किया याद क्षेत्र के बंधुचक (नगवां) गांव स्थित रघुपति आदर्श संस्कृत इंटर कॉलेज के सभागार में मंगल पांडे विचार मंच के बैनर तले मंगल पांडे की 190वीं जयंती शनिवार को श्रद्धापूर्वक मनाई गई। लोगों ने मंगल पांडे के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। गांधी जी के पुण्यतिथि पर उनको भी याद किया गया।इस मौके पर मंच द्वारा अमर शहीद के प्रपौत्र पंडित रघुनाथ पांडे को अंगवस्त्रम एवं शहीद के सम्मान में स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। बतौर मुख्य अतिथि शहीद मंगल पांडे के प्रपौत्र पंडित रघुनाथ पांडे ने कहा कि देश की आजादी के लिए मंगल पांडे की कुर्बानी को देश सदैव याद रखेगा। उन्होंने आग्रह किया कि कठिनाई से प्राप्त आजादी को बनाए रखने व विकास के लिए सभी देशवासी योगदान करें। मंच के अध्यक्ष कृष्ण कांत पाठक ने कहा कि शहीद मंगल पांडे की स्मृति में राष्ट्रीय योजनाओं का नामकरण किया जाना चाहिए । उनकी स्मृति में उनके पैतृक गांव में स्थापित संस्थाओं का चतुर्दिक विकास समय की आवश्यकता है, यही अमर शहीद के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। संचालन डॉ. हरेंद्र यादव ने किया। जिला पंचायत सदस्य चंद्रप्रकाश पाठक, विमल पाठक, प्रियंम्वद दुबे, पन्नालाल गुप्ता, विवेक सिंह, उमाशंकर पाठक, मनोज पाठक, कमलेश चौबे, कौशल प्रसाद, मुकेश यादव, राजेश पाठक, नीतीश नारायण गुप्ता, संतोष पांडे, सरल पासवान आदि मौजूद रहे।
मंगल पांडे प्रेरणा के स्रोत हैं : विश्व विजय सिंह
शहीद मंगल पांडे के 190वीं जयंती पर उनके पैतृक गांव स्थित शहीद स्मारक पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव विश्व विजय सिंह ने कहा कि मंगल पांडे आज के युवाओं के आदर्श होने चाहिए क्योंकि मंगल पांडे ने उस समय अन्याय के खिलाफ आवाज उठा कर समूचे राष्ट्र को जगाने का काम किया था आज भी देश के युवाओं को अन्याय अत्याचार पर अपनी आवाज बुलंद करने की आवश्यकता है तभी समाज राष्ट्र सशक्त बन सकता है । उन्होंने मंगल पांडे की जन्मभूमि को नमन करते हुए आयोजन समिति के लोगों को ह्रदय से आभार प्रकट किया कहा कि मंगल पांडे के नाम पर उनके पैतृक गांव के विकास तथा उनके स्मारक के जीर्णोद्धार की जिम्मेदारी स्थानीय जनप्रतिनिधियों की है लेकिन उनकी उदासीनता के कारण आज शहीद ऐ आजम का स्मारक जर्जर अवस्था में पहुंच चुका है जो खेद जनक है शहीद मंगल पांडे स्मारक सोसाइटी के मंत्री ओम प्रकाश तिवारी ने मुख्य अतिथि का स्वागत स्मृति चिन्ह एवं अंगवस्त्रम देकर किया। वही जनपद के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रामविचार पांडे सहित कई लोगो को समाज में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए अंगवस्त्रम से सम्मानित किया। इस अवसर पर आयोजन समिति द्वारा क्षेत्र के गरीब महिलाओं में कंबल आदि का वितरण भी किया गया। इस मौके पर मुख्य रूप से डॉ शत्रुघन पांडे, अवध बिहारी चौबे, सच्चिदानंद तिवारी, राघवेंद्र प्रताप सिंह, जिलाध्यक्ष ओम प्रकाश पांडे, शमशाद आलम, लल्लू सिंह, धनजी पांडेय, हरिशंकर पाठक, रमन पाठक, लालू पाठक, विजय पाठक, पिंटू सिंह, अभिषेक पाठक, सोनू पाठक, पिंटू सिंह आदि लोग रहे। अध्यक्षता लक्ष्मण पाठक एवं संचालन तथा आभार मंत्री ओमप्रकाश तिवारी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *