प्रदेश

बाराबंकी अपने मोहल्ले और कॉलोनी में सब्जी बेचने वालों से हो जाइए सावधान पुलिस का यह खुलासा आपकी आंखें खोल देगा

रिपोर्ट:-फखरे आलम

 

आपके मोहल्ले और कॉलोनी में अकसर सब्जी का ठेला लेकर फेरी लगाने लोग आते ही होंगे और लगभग सभी उससे सब्जी खरीदते होंगे मगर कभी ऐसा सोंचा है कि आपके मोहल्ले में सब्जी वाले का आना किसी बड़े खतरे की निशानी है अगर नही तो बाराबंकी पुलिस का यह खुलासा जरूर देख लें इससे आपकी आँखें खुल जाएंगी। पुलिस ने सब्जी बेचने वाले गिरोह के पास से लगभग दस लाख रुपये का चोरी का सामान जिसमें नगदी,जेवरात भी शामिल है सहित दो मोटरसाइकिल और एक अवैध तमंचा बरामद कर गिरोह के 5 सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है पुलिस का मानना है कि इस गिरोह के पकड़े जाने के बाद ताबड़तोड़ हो रही चोरियों पर अंकुश लगेगा ।

बाराबंकी पुलिस की हिरासत में खड़े यह लोग अंतर्जनपदीय गिरोह के सदस्य है।यह लोग घरों में चोरी करने का काम करते है और जो समान का जखीरा पुलिस के सामने रखा है वह इसके द्वारा चोरी किया गया माल है यह लोग चोरी करने के लिए सब्जी वाला बनकर मोहल्लों और कालोनियों में जाते थे और घरों की रैकी कर वहाँ रात होने पर हाथ साफ करने का काम करते थे।पुलिस ने इनके कब्जे से चोरी का सामान सहित चोरी की दो मोटरसाइकिल और एक अवैध तमंचा बरामद कर गिरोह के पाँच सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है।पुलिस अभी इनके और साथियों के सम्बन्ध में जानकारी एकत्रित कर रही है जिससे पूरे गिरोह का सफाया हो सके।पुलिस के अनुसार यह लोग सिर्फ बाराबंकी में ही सीमित न रहकर आसपास के जनपदों में भी चोरी की घटनाओं को अन्जाम देते थे।पुलिस सभी के आपराधिक रिकार्ड को खंगाल रही है।बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने बताया कि यह एक अंतर्जनपदीय गैंग है और यह लोग मोहल्लों, कालोनियों में सब्जी का ठेला लेकर घुसते थे और वहाँ उन घरों की रैकी करते थे जिनमें कई दिनों से ताले बन्द हो या घर मालिक कहीं बाहर गया हो।रात होते ही इनका असली काम शुरू हो जाता था और यह लोग उन घरों में अपना हाथ साफ कर देते थे।पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नगदी और जेवरात समेत लगभग दस लाख रुपये का चोरी का माल और दो मोटरसाइकिल सहित चोरी में डराने के लिए प्रयुक्त होने वाले अवैध तमंचे को बरामद कर लिया है।पुलिस अधीक्षक ने सभी नागरिकों से सावधान रहने और घर से बाहर जाने पर थाना,चौकी और हल्का इन्चार्ज को सूचित करने की बात कही है जिससे उस क्षेत्र में पुलिसिंग बढ़ाई जा सके और चोरी को रोका जा सके।पुलिस अधीक्षक ने खुलासा करने वाली टीम को पच्चीस हजार रुपये पुरस्कार की घोषणा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *