प्रदेश

भाई दूज पर भाई से मिलने जेल पहुंची बहन,लेकिन कोविद-19 खतरे के चलते मिलने नही दिया गया तो रोते रोते वापस घर लोटी बहने

रिपोर्ट:-शारिक सिद्दीकी

 

इस बार कोविड 19 के नियमों के चलते जेल में बंद भाइयों से भईया दूज के मौके पर बहनें अपने भाइयों से नही मिल पाएंगी,जेल में बंद भाइयों को भी इस मौके पर अपनी बहनों से मुलाक़त का ख़ास इंतेज़ार रहता है,।

बहने भाई की पूजा करने के बाद उनकी कलाई में कलावा धागा बांधती हैं,उसके बाद भाई का टीका कर उन्हें नारियल का गोला देती हैं,भाई भी बदले में बहन को कुछ न कुछ नेग ज़रूर देतें हैं,लेकिन इस बार कोविड 19 नियमों के चलते जेल में सज़ा याफ़्ता और विचारधीन बंदी भाइयों की बहन से मिलने की ये मुराद पूरी नही होगी।

मुरादाबाद ज़िला कारागार के गेट पर हाथों में समान लिए छोटे-छोटे बच्चों के साथ इंतेज़ार में खड़ी ये महिलाएं आज भैया दूज के मौके पर जेल में बंद अपने भाइयों से मिलने के लिए आई हैं,

ये बहने अपने साथ मिठाई,नारियल और पूजा का तमाम समान लेकर आई हैं,लेकिन कोविड-19 के सख़्त नियम होने की वजह से जेल प्रशासन ने इन बहनों को उनके भाइयों से मिलाने से साफ इनकार कर दिया है,।

जेल प्रशासन ने इतनी राहत ज़रूर दी है,कि बहनें अपने भाइयों के लिए जो भी सामान लाई हैं वह अपने आधार आईडी कार्ड की फोटो स्टेट के साथ बंदी का नाम लिखकर जेल स्टाफ को दे दें,जेल स्टाफ को कोविड 19 के नियमों के तहत निर्धारित समय उसे रखने के बाद उस समान की जांच कर जेल में बंद बंदियों को सौप देंगे,।

जेल के गेट पर आंखों में आंसू लिए खड़ी बहने जेल स्टाफ़ से एक बार अपने भाइयों से मिलवाने की गुहार लगाती रहीं, लेकिन जेल प्रशासन ने नियमों का हवाला देकर भैयादूज पर कोई भी राहत देने से इंकार कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *