ट्रेंडिंग हॉट

भारतः मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें ऐप पर अपलोड करने का मुद्दा फिर चर्चा में, शिव सेना ने की दोषियों के ख़िलाफ़ कार्यवाही की मां

भारत में मुस्लिम महिलाओं की तसवीरें ऐप पर अपलोड करने का मुद्दा एक बार फिर चर्चा में आ गया है।

शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने एक जनवरी को कहा कि सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें गिटहब प्लेटफॉर्म के ज़रिए एक ऐप पर अपलोड की गई हैं।

चतुर्वेदी ने इस मामले को मुंबई पुलिस के सामने उठाया था और उन्होंने इसके दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ़्तार करने की मांग की थी।

प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट कर कहा था कि मैंने सीपी मुंबई पुलिस और डीसीपी क्राइम रश्मि कारंदिकर से बात की है, वे इस मामले की जांच करेंगे, इसे लेकर महाराष्ट्र के डीजीपी से भी बात की है कि वे मामले में हस्तक्षेप करें, उम्मीद है कि इसमें शामिल महिला विरोधी और लैंगिक भेदभाव करने वाले गिरफ़्तार होंगे।

पूरे मामले पर मुंबई पुलिस ने कहा कि उसने मामले को संज्ञान में लिया है और संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के लिए कहा गया है।

सोशल मीडिया यूज़र्स का कहना है कि ऐप ‘बुल्ली बाई’ भी सुल्ली डील्स की तरह ही काम करता है, एक बार जब इसे आप ओपन करेंगे तो मुस्लिम महिलाओं के चेहरे दिखने लगते हैं।

ट्विटर पर अपनी अच्छी ख़ासी मौजूदगी रखने वाली मुस्लिम महिलाओं ने बुल्ली बाई पर अपनी फ़ोटो अपलोड किए जाने का स्क्रीनशॉट ट्वीट किया है।

द वायर की पत्रकार इस्मत आरा ने इस प्लेटफॉम पर बनाई गई ख़ुद की प्रोफ़ाइल का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा, ”ये बहुत दुख की बात है कि एक मुस्लिम महिला के रूप में मुझे नए साल की शुरुआत इस डर और घृणा के साथ करनी पड़ रही है।

इस्मत ने इस मामले में दिल्ली साइबर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। दिल्ली पुलिस ने ट्विट कर कहा है कि वह इस मामले की जांच कर रही है।

वहीं केंद्रीय सूचना मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि आज सुबह ही गिटहब ने जानकारी दी है कि इस एप को ब्लॉक कर दिया गया है, पुलिस अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे हैं।

बीते साल जुलाई में जब सुल्ली डील्स ऐप पर इस तरह मुस्लिम लड़कियों की तस्वीर अपलोड की जा रही थी तो उस वक़्त भी इसे लेकर एफ़आईआर कराई गई थी, लेकिन पता चला है कि पुलिस इस मामले में कोई कर्यवाही नहीं कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *