अन्तर्राष्ट्रीय

भारत-पाक बंटवारे के वक़्त अलग हो गये थे दो भाई, 74 साल बाद मिले तो आँख भर आई, देखिये (VIDEO)

न्यूज़ डेस्क: सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जहां काफी कुछ ऐसा देखने को मिलता है, जिसको देखकर चेहरे पर मुस्कान आना तो तय होता है. अब जो खबर सामने आई है वो वाकई में सोशल मीडिया यूजर्स को भावुक कर रही है. आपको बता दें ऐसे पोस्ट इंटरनेट पर काफी वायरल भी होते हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक बताया जा रहा है कि वहां पर 74 साल बाद दो भाई मिले हैं, बताते हैं कि सन 1947 के भारत-पाक बंटवारे ने इन दोनों भाइयों को जुदा कर दिया. आप सभी को बता दें इस खबर को जानने के बाद से सोशल मीडिया यूजर्स अपना रिएक्शन साझा कर रहे हैं. इसी के साथ लोग लाइक्स और कमेंटस द्वारा खूब प्यार बरसा रहे हैं.

आप सभी को बता दें कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है करतारपुर कॉरीडोर से जहां सालों के बिछड़े दो भाई जब मिले तो नजारा बेहद ही भावुक था. अब इसका वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर तेजी से वायरल हो रहा है, साथ में लोग अपना रिएक्शन साझा कर रहे हैं. आप सभी को बात दें इस वीडियो को सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया गया है. आप सभी वीडियो को नामक पेज पर देख सकते हैं.

https://twitter.com/Gagan4344?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1481174283267330051%7Ctwgr%5E%7Ctwcon%5Es1_&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.nirbhikkhabar.com%2F%3Fp%3D9533

इस पोस्ट को शेयर करते हुए पेज के एडमिन ने कैप्शन में लिखा- करतारपुर साहिब कॉरिडोर ने 74 साल बाद पंजाब सीमा पर दो बुजुर्ग भाइयों को फिर से मिला दिया है. बंटवारे के वक्त दोनों भाई अलग हो गए थे.

करतारपुर कॉरिडोर में भारत-पाक बंटवारे में बिछड़े दो भाइयों की मुलाकात हुई है इनमें से एक पाकिस्तान में रहते थे जबकि दूसरे भारत में और जब दोनों भाइयों ने एक दूसरे को देखा तो देखते ही भरी आंखों से गले मिले. गौर हो कि इन दोनों भाइयों का मिलन 74 साल बाद हुआ है दोनों गले मिलकर रोने लगे, ये वीडियो बेहद भावुक है और सोशल मीडिया पर लोग इस वीडियो को लेकर खासी चर्चा कर रहे हैं. लोगों के रिएक्शन की बात करें तो एक यूजर ने लिखा- ज़मीन के टुकड़े बंट सकते है, जज़्बात नहीं, यह हुक्मरान कहाँ समझेंगे, दिल चाहिए. दूसरे यूजर ने लिखा- ये वीडियो वाकई में कमाल का है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *