प्रदेश

बीजेपी नेता ने मांझी की ज़बान काटने वाले के लिए 11 लाख रुपए का रखा इनाम, हम ने नीतीश सरकार से समर्थन वापस लेने की दी धमकी

बिहार में हिंदुस्तानी आवामा मोर्चा (हम) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच लगातार टकराव बढ़ता जा रहा है, जिससे नीतीश कुमार की गठबंधन सरकार पर ख़तरे के बादल मंडराने लगे हैं।

हम के प्रमुख जीतन राम मांझी की ब्राह्मणों पर विवादित टिप्पणी के सत्ताधारी एनडीए गठबंधन में शामिल दलों के बीच तनाव इतना बढ़ गया है कि हम के प्रवक्ता ने नीतीश सरकार को गिराने की धमकी तक दे दी।

हालांकि बिहार में बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने तनाव कम करने की कोशिश करते हुए मांझी को एनडीए का वरिष्ठ नेता बताया है और अपनी पार्टी के नेताओं से कहा है कि मांझी के ख़िलाफ़ बयानबाज़ी बंद करें।

दरअसल पूरे मामले की शुरुआत मांझी के उस बयान के बाद हुई जिसमें उन्होंने ब्राह्मणों को बुरा भला कहा था। हालांकि, बाद में मांझी ने इसके लिए माफ़ी भी मांग ली थी। लेकिन बीजेपी नेता इस क़दर आग बबूला हो गए कि मांझी को खुलकर धमकियां देने लगे। बीजेपी नेता गजेंद्र झा ने तो मांझी की ज़बान काटने वाले के लिए 11 लाख रुपए इनाम तक की घोषणा कर दी।

बीजेपी नेताओं की धमकियों से से मांझी इतना आहत हुए कि पार्टी के प्रवक्ता दानिश रिज़वान ने नीतीश सरकार से समर्थन वापसी की धमकी दे डाली। रिज़वान ने कहा कि मांझी ने अपने 4 विधायकों का समर्थन वापस ले लिया तो नीतीश सरकार गिर जाएगी और बीजेपी के नता राज्य में पैदल हो जाएंगे। msm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *