फोटो

बुलंदशहर पुलिस का एक और सराहनीय कार्य। अपहरण हुए सवा माह के शिशु को मात्र 8 घंटे में किया बरामद

टीकाकरण के बहाने सवा माह के नवजात शिशु का हुआ था अपहरण।

सवा माह के अबोध बच्चे के अगवा होने से फैली क्षैत्र में सनसनी।

स्विफ्ट डिजायर गाड़ी से आये एक नकाबपोश महिला व आदमी ने टीकाकरण के नाम पर बच्चे को किया अगवा।

आंगनवाड़ी केंद्र से आना बताकर गांव के रास्ते पर खड़ी अपनी गाड़ी पर बच्चे को टीकाकरण के बहाने ले गये थे अपनी कार तक।

घर से नवजात शिशु के बाबा निरंजन शर्मा बच्चे को अपनी गोद में लेकर गाड़ी तक गये थे टीका लगवाने।

निरंजन शर्मा को धोखा देकर नवजात को कार से लेकर भाग निकले महिला व आदमी।

बच्चा व कार को न देख निरंजन शर्मा के उड़े होश।

बच्चे के अगवा होने का मचाया शोर, बच्चे के माता सुधा व पिता संजीव शर्मा दोनों हैं दिव्यांग।

अबोध के अगवा होने से पुलिस में मचा हड़कंप।

जैसे ही मामला पुलिस कप्तान के संज्ञान में आया, मामले को गंभीरता से लेते हुए कई पुलिस की में की गठित।

अति शीघ्र मामले का खुलासा करने का दिया आदेश।

जिसके परिणाम स्वरूप मात्र 8 घंटे में गाजियाबाद से पुलिस ने नवजात को किया सकुशल बरामद।

नवजात के अपहरण में सगे चाचा चाची का निकला हाथ। चाचा-चाची के शादी उपरांत बच्चा ना होने के कारण बच्चे को पालने की लालसा के चलते दिया अपहरण की घटना को अंजाम।

पुलिस ने दोनों को किया गिरफ्तार।

थाना अनूपशहर क्षैत्र के डूंगरा जोगी गांव का है मामला।

बाइट–वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *