प्रदेश

बुलंदशहर।रालोद का कलेक्ट्रेट पर जोरदार प्रदर्शन किसान विरोधी अध्यादेश वापिस लेने की मांग

रिपोर्ट:-जावेद खान

 

बुलंदशहर।किसान विरोधी अध्यादेशों के खिलाफ राष्ट्रीय लोकदल ने कलेक्ट्रेट पर जमकर प्रदर्शन किया और कलेक्ट्रेट पर मंडी लगाकर सरकार से कानूनों को वापिस लेने की मांग की।रालोद ने जिलाध्यक्ष आसिफ गाजी के नेतृत्व में दिल्ली रोड से कलेक्ट्रेट तक जुलूस निकाला और मोदी तथा भाजपा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की ।

रालोद नेताओं ने सैंकड़ों कार्यकर्ताओ के साथ प्रशासन की नाकेबंदी को धता बताते हुए पीछे के गेट से जाकर डीएम आफिस पर सांकेतिक मंडी लगा दी और सब्जी, अनाज बेचकर प्रदर्शन किया।रालोद ने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन देकर राष्ट्रपति से कानूनों को सरकार से वापिस करवाने की मांग की।

जिलाध्यक्ष आसिफ गाजी ने कहा कि भाजपा और मोदी सरकार ने किसान विरोधी कानून बनाकर किसानों को ठगने का काम किया है और पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने का कार्य किया है।उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बनाने की साजिश रच रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने एमएसपी से कम रेट पर बेचने वालों के खिलाफ कोई कानून नही बनाया है।

 

आसिफ गाजी ने कहा कि मोदी सरकार ने अच्छे दिन का वायदा कर किसानों के साथ धोखा किया है।जिलाध्यक्ष ने कहा कि किसान को धर्म-जाति की राजनीति से निकलकर सरकार को जगाने के लिए एकजुट होना होगा और भाजपा को भगाना होगा।उन्होंने यह भी कहा कि मंडी लगाकर हमने किसानों की दुर्दशा बताने की कोशिश की है ताकि सरकार जाग सके।

पूर्व विधायक दिलनवाज खान ने कहा कि किसानो के दम पर सरकार बनाने वाली भाजपा आज किसानों के खिलाफ कानून बना रही है । उन्होंने कहा कि सरकार ने कानून वापिस नहीं लिए तो किसान आंदोलन करेगा ।
रालोद नेता एडवोकेट जियाउर्रहमान ने कहा कि किसानों के खिलाफ कानून बनाकर मोदी सरकार ने किसान विरोधीअपने इरादे साफ कर दिए हैं । उन्होंने कहा कि जातियों में बंटे किसान को भाजपा की मंशा समझनी होगी और गांव गांव, शहर शहर भाजपा का बहिष्कार करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *