फोटो

छात्रों के खाते में आए 960 करोड़ गांव वालों में मची बैलेंस चेक करने की होड़ पढ़िए पूरी खबर

कटिहार: बिहार के कटिहार जिले के आजमनगर प्रखंड के पस्तिया गांव में लोग अचानक अपनी अपनी बैंक पास बुक लेकर बैंक पहुँच गए। और बैलेंस चेक करने के लिए कई बैंकों की लाइन में लगकर अपना बैलेंस चेक करने लगे। लेकिन सवाल ये है की ऐसा हुआ क्यूँ ? आपको बता दें की गांव के रहने वाले दो स्कूली बच्चों के खाते में रातों-रात इतनी मोटी रकम आ गई, जिसका आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते या फिर इतनी रकम किसी अमीर व्यक्ति के भी खाते में नहीं होती है। और वो राशि थी 960 करोड़। बच्चों के बैंक खाते में इतनी बड़ी राशि आने के बाद से पूरे इलाके में लोग अपना बैलेंस चेक करने लगे। और देखते देखते कई बैंकों मे गाँव के लोग हाथ मे पासबुक लिए बैलेंस चेक करने लगे।

छात्रों के खाते में आए करोड़ों रुपये

पूरे गाँव मे बुधवार की शाम से ही गांव का हर व्यक्ति अपने खाते का बैलेंस चेक कर रहा है। की कहीं उसके खाते मे भी तो कोई पैसा नहीं आया? दरअसल, पूरा मामला यह है कि उत्तरी बिहार ग्रामीण बैंक में खाता धारक कक्षा 6 में पढ़ने वाले दो बच्चों के खाते में एक साथ करोड़ों रुपये की राशि आ गई। कक्षा 6 में पढ़ रहे आसित कुमार के खाते में 900 करोड़ जबकि गुरु चरण विश्वास के खाते में 60 करोड़ रुपये से अधिक की राशि आ गई। ये राशि किसने भेजी कहाँ से आई इससे अब तक सब लोग अंजान हैं।

ड्रेस के लिए आना था पैसा

वैसे तो इन दोनों बच्चों के खाते में स्कूल की तरफ से ड्रेस के लिए सराकरी पैसा आना था। लेकिन एक साथ इतनी बड़ी राशि देखकर बच्चों के साथ-साथ उनके घरवाले भी हैरान रह गए। मामले का खुलासा जब हुआ तब बच्चों के परिजन स्कूल से आने वाली ड्रेस की राशि चेक करने के लिए गांव के ही इंटरनेट केंद्र पर पहुंचे। जब उन्होने अपना अकाउंट चेक करवाया तो चक्कर में पड़ गए। वहां पर मौजूद सभी दूसरे लोग भी बैंक खाते में इतनी बड़ी राशि देखकर हैरान थे।और लोग सरपट अपने घरों की तरफ दौड़ने लगे ताकि बैंक पास बुक लाकर वो भी अपना बैलेंस चेक करा सकें की कहीं ये कमाल उनके साथ भी तो नहीं हुआ?

मामले की होगी जांच

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बैंक के शाखा प्रबंधक मनोज गुप्ता भी इस घटना से हैरान हैं। हालांकि अभी फिलहाल बैंक ने दोनों बच्चों के खाते से भुगतान पर रोक लगाते हुए कहा कि मामले की जांच करने की बात कही है। बैंक ने अपने वरीय पदाधिकारियों को भी इस बारे में सूचना दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *