प्रदेश

दरोगा की इलाज के दौरान मौत,परिजनों का आरोप,इलाज के पैसे चुकाने के बाद भी अस्पताल प्रबंधन नही दे रहा शव

रिपोर्ट:-राशिद खान

 

मेरठ के एक निजी अस्पताल में भर्ती हुए दरोगा की इलाज के दौरान मौत हो गई,मृतक के परिजनों का आरोप है कि इलाज के पूरे पैसे जमा करने के बावजूद भी अस्पताल प्रबंधन उन्हें शव नही दे रहा है । वहीं अस्पताल प्रबंधन ने आरोपो को गलत बताया ।

दरअसल, संभल ज़िले के रहने वाले दरोगा निक्की मियां हापुड़ के बहादुर गढ़ थाना में सब इंस्पेक्टर के पद पर तैनात थे,दो दिन पूर्व उन्हें मेरठ के नामी अस्पताल में भर्ती कराया गया था,जहां उनकी हार्ट अटैक के बाद मौत हो गई।

मृतक के परिजनों का आरोप है कि वो 3 लाख रुपये इलाज के खर्च के अस्पताल में जमा करा चुके हैं,लेकिन अभी भी उनसे 75 हजार रुपयों के मांग अस्पताल वाले कर रहे हैं, और न देने लार उन्हें शव भी नही दिया जा रहा है।मृतक के भाई ने कहा कि अब उसके पास कुछ नही बचा है चाहे तो अस्पताल उसकी किडनी निकाल सकते हैं इस दौरान अस्पताल में हंगामा हुआ।


वहीं अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि मृतक के परिजनों द्वारा लगाए गए आरोप निराधार है,और उन्हें पूर्व में ही इलाज के खर्च और मरीज के हालात के बारे में अबगत करा दिया था । शव न देने की बात को भी प्रबंधन ने सिरे से खारिज कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *