प्रदेश

एटा में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ को किया नजर अंदाज 14 वर्षीय मासूम खुशी की मौत पर मासूम के परिजनों ने लगाया आरोपी पर दुष्कर्म का आरोप

रिपोर्ट:-दीपक पंडित

 

जिला अस्पताल की नई बिल्डिंग के चौथी मंजिल से गिरी कक्षा आठ की छात्रा खुशी की मौत ने लिया नया मोड़ जनपद के जिला चिकित्सालय में नव निर्माणाधीन बहुमंजिला इमारत से कक्षा 8 की 14 वर्षीय छात्रा खुशी वशिष्ठ की चौथे माले से गिर कर आत्महत्या की कहानी ने लिया नया मोड़।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने खोले कई राज रिपोर्ट में आया कि नाबालिक के साथ किया गया था दुष्कर्म का प्रयास जिससे मासूम बच्ची के प्राइवेट पार्ट पर आए हैं कई जख्म जिस पर जनपद के सैकड़ों लोगों की भीड़ ने शहर के शहीद भगत सिंह पार्क पर इकट्ठे होकर कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि दी साथ ही आरोपी के खिलाफ केंद्र व सूबे की योगी सरकार से मौत की सजा देने की मांग की।


आपको बता दें मामला आज से 5 दिन पूर्व का है जहां पूरे देश में रावण पुतला दहन की तैयारियां जोरों पर थी वही जनपद के जिला चिकित्सालय में बनाई जा रही है सैकड़ों बैड स्थापित करने वाली नवनिर्मित इमारत के चौथे माले से कक्षा आठ की छात्रा खुशी वशिष्ठ के इमारत की चौथे माले से कूदकर आत्महत्या की बात सुनने को मिली, जिस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचे मृतक मासूम के परिजनों को बताया कि उनकी बेटी ने इमारत के चौथे माले से कूदकर आत्महत्या कर ली है,।

परिजनों ने पुलिस की बात को मानते हुए आत्महत्या की बात को स्वीकार लिया और पुलिस कार्रवाई में दखल नहीं दिया, लेकिन इलाका पुलिस ने दुखी परिजनों से प्रार्थना पत्र पर दस्तखत करा लिए, और मुकद्दमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया,लेकिन सीधे-साधे परिजनों को मालूम नहीं था आखिर खुशी की मौत का राज क्या है, मासूम के परिजनों ने पुलिस को यह भी बताया उनके ही घर में किराए पर रहने वाला गौरव ठाकुर नाम का व्यक्ति है उनकी मासूम खुशी को रास्ता चलते अश्लील हरकत कर परेशान करता है।

लेकिन मासूम की मौत से 18 घंटे पूर्व मासूम को अपनी दुकान में बुलाकर घिनौनी हरकत को अंजाम दे चुका था आरोपी के चंगुल से छूटने के बाद मासूम ने आपबीती बात अपनी मां को बताई, मासूम के परिजनों ने जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट लेने का प्रयास किया तो अस्पताल प्रशासन व पुलिस प्रशासन ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट देने से मना कर दिया किसी तरह परिजनों ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट लेकर अपने अधिवक्ता को दिखाई जिसमें मासूम के साथ दुराचार के प्रयास की पुष्टि की गई है।

यह बात जनता के बीच पहुंचने में देर नहीं लगी और एक के बाद 10 , और 10 के बाद पूरे शहर में फैल गई, जानकारी होने के बाद सैकड़ो लोग पीड़ित के घर पहुंचने लगे, घटना की हकीकत हो जाने के बाद जनता का आक्रोश पनप गया और जनता ने मासूम खुशी को भावभीनी श्रद्धांजलि दी साथ ही मोमबत्ती जलाकर केंद्र व सूबे की सरकार से आरोपी को मौत की सजा देने की मांग की।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *