अन्तर्राष्ट्रीय

ईरान के विरुद्ध अत्यधिक दबाव की नीति समाप्त होनी चाहिएः चीन

ईरान के विरुद्ध अत्यधिक दबाव की नीति समाप्त होनी चाहिएः चीन

चीन का कहना है कि ईरान के विरुद्ध अमरीका की अत्यधिक दबाव की नीति अब समाप्त होनी चाहिए।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि परमाणु मुद्दे को लेकर अमरीका ने ईरान के विरुद्ध संकट उत्पन्न किया है। उन्होंने कहा कि तेरहान के विरुद्ध वाशिग्टन की अधिक दबाव की नीति समाप्त होनी चाहिए।

एक संवाददाता सम्मेलन में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जाओ लीजियान ने कहा कि संकट का कारण अमरीका है। उन्होंने कहा कि वह उसकी अधिक दबाव की ग़लत नीति के कारण है। चीनी प्रवक्ता ने कहा कि जेसीपीओए को लेकर वार्ता संवेदनशील चरण में दाख़िल हो चुकी है। एसे में सभी पक्षों को किसी सहमति तक पहुंचने के लिए कूटनीतिक प्रयासों को तेज़ करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि परमाणु कार्यक्रम के संबन्ध में संकट अमरीका ने ही पैदा किया है इसलिए उसी को अपनी ग़लत नीतियों को अलग करना होगा।। लीजियान ने कहा कि ईरान की तार्किक बातों को ज़रूर सुनकर उनपर अमल होना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि जो बाइडेन प्रशासन के अधिकारी हालिया महीनों में इस बात को सार्वजनिक रूप में स्वीकार कर चुके हैं कि ईरान के विरुद्ध अधिक दबाव की नीति पूरी तरह से विफल रही है। अब वे जेसीपीओए में वापस आने का भी संकेत दे रहे हैं किंतु इस संबन्ध में आवश्यक काम को अमरीका की ओर से अबतक अंजाम नहीं दिया गया है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान का कहना है कि अमरीका ने परमाणु समझौते का हनन किया है इसलिए पहले उसी को क़दम उठाना होगा। हालांकि तेहरान ने कहा है कि अमरीका की समझौते में वापसी के लिए उसे कोई जल्दी भी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *