प्रदेश

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक

रिपोर्ट:-संजय कुमार तिवारी

 

बलिया,जनपद में 31 जनवरी से पल्स पोलियो अभियान शुरू किया जाएगा।इस अभियान को सुचारु रुप से संचालित कराने के लिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला टास्क फोर्स समिति की बैठक विकास भवन में हुई। अभियान के तहत जन्म से पाँच वर्ष तक के करीब 4.95 लाख बच्चों को पोलियो खुराक पिलाने का लक्ष्य रखा गया है।


जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ ए के मिश्रा ने बताया कि यह दवा पाँच वर्ष से कम उम्र के सभी बच्चों के लिये आवश्यक है।पाँच वर्ष तक की आयु के बच्चों को बार-बार खुराक पिलाने से पूरे क्षेत्र में इस बीमारी से लड़ने की क्षमता बढ़ती है,जिससे पोलियो के विषाणु को पनपने से रोकती है।पोलियो या पोलियोमेलाइटिस एक गंभीर और खतरनाक बीमारी है।पोलियो वायरस से होता है।यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलता है।साथ ही यह वायरस जिस भी व्यक्ति में प्रवेश करता है उसके मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाता है जिसकी वजह से लकवा भी हो सकता है।
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि इस चरण के लिए जन्म से पाँच वर्ष तक के 4.95 लाख बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।इस चरण के लिए जिले भर में 1601 बूथ बनाए गए हैं साथ ही 90 मोबाइल टीम भी बनाई गई है।इसके साथ ही अभियान के लिए 835 टीमें बनायी गयी हैं जो 1, 2, 3, 6, 7 फरवरी को घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने का काम करेंगे।बी- टीम द्वारा 9 फरवरी को दवा पिलाई जाएगी।पल्स पोलियो के कार्यक्रम को सकुशल निपटाने के लिए एएनएम,आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता इसमें अपना सहयोग करेंगी।इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ० विपिन जैन ,मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 राजेन्द्र प्रसाद ,डिप्टी कलेक्टर/ कार्यवाहक जिला कार्यक्रम अधिकारी सीमा पाण्डेय,अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी, समस्त अधीक्षक/ प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक , समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी, डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधि, समस्त बी पी एम,,समस्त बी सी पी एम, यूएनडीपी के प्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *