प्रदेश

जिला एवं सत्र न्यायालय बलरामपुर के चपरासी शब्बीर उर्फ रमज़ान ने नौकरी दिलाने के नाम पर ठगे ₹2,20000

ब्यूरो रिपोर्ट बलरामपुर

 

जहां एक तरफ योगी और मोदी सरकार भ्रष्टाचार पर नकेल कसने का दावा कर रही है वहीं कुछ लोग सरकारी पद का पहुंच दिखाकर नौकरी दिलाने के नाम पर पैसा वसूलने का काम भी कर रहे हैं, जी हाँ सूत्रों की माने तो शब्बीर उर्फ रमज़ान पुत्र मोहम्मद सऊद , मोहल्ला- बलुआ , जिला-बलरामपुर का निवासी है , जो जिला एवं सत्र न्यायालय बलरामपुर में चपरासी के पद पर कार्यरत है जिसकी रिश्तेदारी बलरामपुर जिले के उतरौला तहसील में सुभाष नगर मुहल्ले में है।

 

शब्बीर यहां आता जाता था जिससे विश्वास में लेकर अपने रिश्तेदार निशात बेगम एवं शाहीन बानो पुत्री अब्दुल रहमान शाह उर्फ पुत्तन एवं अन्य जिसका नाम हदीसुन निशां पुत्री हबीबुल्लाह निवासी मोहल्ला-सुभाषनगर , तहसील उतरौला का भी पैसा नौकरी दिलाने के नाम पर सत्र 2019 में ले लिया था और आज तक झांसा दे रहा है, तीनों पीड़ितों के अनुसार अब शब्बीर जज साहब के कार्यालय में कर्मचारी होने का धौंस जमाते हैं और पैसा वापस देने में आना कानी करते हुए 2 वर्ष निकाल दिए,

इस संदर्भ में जब शब्बीर उर्फ रमज़ान से पत्रकारों की टीम ने दूरभाष नम्बर 8840921928 पर जब बात किया गया तो रमज़ान ने अपने साथ एक व्यक्ति पिंटू मिश्रा जो बहराइच का निवासी है जिसका दूरभाष नंबर 7268986841 है का नाम भी लिया , जब पिंटू मिश्रा से बात किया गया तो पिंटू मिश्रा ने भी स्वीकारा कि नौकरी दिलाने के राशि 220000/- रमज़ान ने लिया है। सूत्रों की माने तो इस ठगी के कार्य मे कई लोग संलिप्त हैं, अगर ऐसे भ्रष्ट और ठगी करने वालों लोगों को लगाम नहीं लगाया गया तो और न जाने कितने लोगों को झांसा देकर ठगी का शिकार बनाएंगे , अब ऐसे में देखना है कि भ्र्ष्टाचार पर नकेल कसने वाली मोदी और योगी सरकार में पीड़ितों को न्याय मिलता है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *