प्रदेश

कब्ज़ा लेने पहुँची एमडीए की टीम का विरोध हंगामा महिलाओ ने तेल छिड़ककर दी आत्मदाह की चेतावनी बेरंग लौटी टीम

रिपोर्ट:-राशिद खान

 

 

मेरठ खरखौदा थाना क्षेत्र के लोहियानगर में आज उस समय जबरदस्त हंगामा हो गया जब मेरठ विकास प्राधिकरण की टीम एक जमीन पर पुलिस बल के साथ कब्जा लेने पहुंची।इस दौरान प्राधिकरण की टीम का जबरदस्त विरोध हुआ।उक्त ज़मीन के मालिकों,किसानों ने हंगामा किया और तेल छिडक कर आत्मदाह की चेतावनी दे डाली।उनका कहना है कि उन्हें न तो कोई मुआवजा मिला है ना ही शासन से इस जमीन के मामले में कोई आदेश आया है।

लोगो ने एमडीए के अधिकारियो पर फर्जी तरीके से उक्त करोड़ो की विवादित ज़मीन को किसी अन्य शख्स को आवंटित करने का आरोप लगाया,जबकि उक्त ज़मीन का मामला अभी शासन के पास विचारधीन है।


कब्ज़ा लेने पहुँची आज एमडीए की टीम पुलिस फोर्स भी मौके पर ही मौजूद थी।जमीन के मालिकों ने जमीन पर अपना हक जताते हुए प्राधिकरण टीम का विरोध किया।

इसी के साथ जमीन के मालिकों ने जमीन से संबंधित कागजात भी प्राधिकरण अधिकारियों को दिखाए,जिसके बाद अधिकारी बगले झांकते नजर आए ।


इस दौरान महिलाओ ने तेल छिड़ककर आत्मदाह की चेतावनी दी।हंगामा बढ़ते देख प्राधिकरण की टीम और पुलिस जमीन को कब्जा मुक्त कराए वापस लौट गई। ज़मीन के बैनामाधारक पक्ष के लोगो का कहना है कि ज़मीन के सर्वेक्षण के बाद एक प्रस्ताव 2012 खुद प्राधिकरण की एक बैठक में पास किया गया था।

जिसमे प्राधिकरण द्वारा शासन को ज़मीन को अर्जन मुक्त कराने की संस्तुति की गई थी,जिसका बाकायदा आदेश पत्र भी लोगो ने मौके पर दिखाया है।ये मामला तब से शासन के पास विचारधीन है।

लेकिन मेरठ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा फर्जी तरीके से करोड़ो की ज़मीन का आवंटन किसी अन्य शख्स को कर दिया गया।

जबकि इस ज़मीन के बैनामा धारक,किसानों को किसी तरह का कोई मुआवजा भी नही दिया गया।फिलहाल अधिकारियों ने कब्जा करने का फैसला टाल दिया और टीम बेरंग लौटी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *