उत्तर प्रदेश

महिला बंदियों के लिए सवाईकल कैंसर विषय पर जागरूकता शिविर का किया गया आयोजन

बलरामपुर। उत्तर प्रदेश राज्य जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं मा0 जिला जज/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, बलरामपुर के निर्देशानुसार जिला कारागार बलरामपुर में महिला बंदियों के लिए सवाईकल कैंसर विषय पर जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ज्ञानेन्द्र कुमार ने बताया कि महिलाओं मंे सवाईकल कैंसर एक आम बीमारी के रूप में फैल रही है। एक अध्ययन के अनुसार पूरी दुनिया में लगभग 10 प्रतिशत महिलायें सवाईकल कैंसर की बीमारी से पीड़ित है। सामान्य रूप से यह बीमारी 40 वर्ष से अधिक की महिलाओं को होती है, परन्तु यह देखा गया है कि 20 वर्ष से लेकर 70 वर्ष तक की आयु की महिलाओं को सवाईकल कैंसर का जोखिम रहता है। सवाईकल कैंसर से मुख्य रूप तम्बाकू एवं धूम्रपान का सेवन करने वाली महिलाएं ज्यादा पीड़ित होती है। सवाईकल कैंसर से बचाव के उपाय यदि किसी भी प्रकार का कोई लक्षण अथवा संदेह होता है तो नियमित सवाईकल कैंसर की जांच करायें। सवाईकल कैंसर का टीका अवश्य लगवाये। यह टीका 9-12 वर्ष की अवस्था में लग सकता है। परन्तु विशेष परिस्थितियों में चिकित्सीय परामर्श के पश्चात् इससे अधिक आयु की बालिकाओं का टीकाकरण भी किया जा सकता है।


डाॅ0 रतनेश कुमार वर्मा ने बताया कि वास्तव में मानव पेपिलोमावायरस एच0पी0बी0 संक्रमण सवाईकल कैंसर का कारण बनता है, जिसके कारण सरवक्सि की कोशिकाओं में असामान्य परिवर्तन होता है और इसके फलस्वरूप गाॅठे या ट्यूमर बनने लगते है। इसका कारण विशेष रूप से एच0पी0वी0-16 एवं एच0पी0वी0 18 दो प्रकार के वायरस होते है।
इस अवसर पर जेल अधीक्षक, जेलर, डिप्यूटी जेलर एवं पैनल अधिवक्ता मुकेश सिंह मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *