प्रदेश

मेरठ के इस अस्पताल में प्लाज़्मा थैरेपी से बचाई जा रही कोरोना मरीज़ों की जान

रिपोर्ट:-राशिद खान

 

मेरठ सहित आसपास के क्षेत्र में नही है आईसीएमआर सुविधा। सुभारती अस्पताल में क्षेत्र की पहली हीमोटोलॉजी विशेषज्ञ डा.निधि चतुर्वेदी के नेतृत्व में की जा रही है प्लाज्मा थैरेपी।मेरठ। विश्वस्तरीय आधुनिक सुविधाओं से युक्त चिकित्सीय सेवाओं द्वारा मेरठ सहित आप पास के क्षेत्र को उत्तम स्वास्थ सेवाएं प्रदान करके जनमानस को लाभान्वित कर रहें छत्रपति शिवाजी सुभारती अस्पताल ने कोरोना वायरस के प्रकोप से बचाने में सहायक प्लाज्मा थैरेपी की शुरूआत कर दी है। मेरठ सहित आस पास के क्षेत्र में अभी तक यह सुविधा नही थी जिसके कारण रोगियों को दिल्ली, मुम्बई जैसे बड़े शहरों में जाकर अपना इलाज कराना पड़ रहा था।

सुभारती अस्पताल के चिकित्सा उपाधीक्षक डा. कृष्णा मूर्ति ने बताया कि हीमोटोलॉजी विशेषज्ञ डा.निधि चतुर्वेदी के नेतृत्व में सुभारती अस्पताल में आईसीएमआर द्वारा प्लाज्मा थैरेपी की जाएगी। जिसके लिये एक सेन्टर बनाया गया है जहां पर प्लाज्मा थैरेपी की जाएगी एवं प्लास्मफेरेसिस नियमित प्रक्रिया द्वारा कोविड रोगियों के लिए कॉन्वेसिसेंट प्लाज्मा थैरेपी शुरू करेंगे और उम्मीद है कि उनकी नैदानिक स्थिति में तेजी से सुधार होगा। उन्होंने विशेष बताया कि डा. निधि चतुर्वेदी क्षेत्र की पहली हीमोटोलॉजी विशेषज्ञ जो अपने विस्तृत अनुभव के साथ रक्त कैंसर, रक्त रोगों, ऑटो-प्रतिरक्षा विकारों सहित सभी रक्त विकारों का इलाज कर रही है। उन्होंने बताया कि सुभारती अस्पताल में यह सुविधा पहले सी ही कार्यात्मक है मरीजों से प्लाज्मा दान स्वीकार करना शुरू कर दिया है और कोविड आईसीयू में कुछ गंभीर रोगियों को प्लाज्मा थैरेपी दी गई जिनसे कई कोविड रोगियों की जान बची है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में कोविड के लिए एंटीबॉडी स्तर के परीक्षण की सुविधा भी है जिसमें चार विधियों द्वारा कोरोना की प्रमाणित जांच की जा रही है और इस सुविधा से क्षेत्र के लोगो को बड़ा लाभ मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *