प्रदेश

मेरठ किसानों के समर्थन में महापंचायत को संबोधित करने पहुंचे आरएलडी नेता जयंत चौधरी किसान के दिल्ली परेड में शामिल होगी आरएलडी

रिपोर्ट:-राशिद खान

 

मेरठ कृषि बिल के विरोध को लेकर किसान लगातार आंदोलन पर बैठा हुआ है जहां ऐसे में सरकार और किसान संगठनों के बीच कोई विस्तारपूर्वक हाल निकलकर नहीं आ रहा सरकार एक तरफ कृषि बिल में संसोधन की बात कर रही है तो वही दूसरी तरफ आंदोलनकारी किसानों का कहना है।

सरकार कृषि बिल के काले कानून को वापस ले विपक्षी पार्टी भी कृषि बिल को मुद्दा बनाकर किसानों के समर्थन में बढ़चढ़कर दिखाई दे रही है। और मौजूदा सरकार को घेरने का काम कर रही है। जिसमे 26 जनवरी को RLD पार्टी में किसानों के साथ मिलकर परेड में ट्रेक्टर मार्च निकालेगी।


आपको बता दे की किसान कृषि बिल के विरोध में लगभग 56 दिन से अधिक गाजीपुर बॉर्डर पर धरना दे रहे है। और उनकी सरकार से सिर्फ एक मांग है।की संसोधन नही कृषि बिल के इस काले कानून को सरकार वापस ले अन्यथा किसानों का आंदोलन लगातार जारी चलता रहेगा।इसी बीच बागपत,बड़ौत व मेरठ में भी किसान संगठन द्वारा कई दिन से पंचायत जगह-जगह की जा रही थी जिसमें सरधना के करनावल में भी लगभग 2 सप्ताह से किसान संगठन की पंचायत कृषि बिल के समर्थन में चली आ रही है।

और अब किसानों के कृषि बिल के समर्थन को लेकर राष्ट्रीय लोकदल पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी भी महापंचायत में किसानों को संबोधित करने के लिए पहुंचे और जिनका साफ तौर पर कहना है की हमारी पार्टी हमेशा किसानों के हित में कार्य करती आई है।और आगे भी कार्य हमेशा करती रहेगी किसानों के उत्पीड़न को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।सत्ता में बैठी सरकार भोले भाले किसानों को बरगलाने का काम कर रही है।सरकार द्वारा पास किये गए कृषि बिल से छोटे तबके के किसान को बड़ा नुकसान है।

क्योकि यह कृषि बिल जनता के हित में नहीं सरकार को इस कृषि बिल के काले कानून को वापस लेना चाहिए। राम मंदिर निर्माण पर भी बोले जयंत चौधरी कहा की सरकार राम मंदिर निर्माण के नाम पर सिर्फ उगाही करने का काम कर रही है।प्रदेश की योगी सरकार की कानून व्यवस्था बिल्कुल चौपट होती जा रही है जहां आए दिन बलात्कार लूट और हत्या की घटना दिन पर दिन बढ़ती जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *