प्रदेश

मुकदमा दर्ज कराने के लिए पीड़ित महिला अपने पति व डेढ़ साल के बच्चों के साथ रात भर डटी रही थाने पर।

रिपोर्ट:-रविन्द्र चौधरी

 

गोरखपुर।उत्तर प्रदेश में लगातार आपराधिक घटनाएं हो रही है लेकिन पुलिस फिर भी इन घटनाओं से कोई सबक नहीं ले रहा है ताजा मामला गोरखपुर जिले के राजघाट थाना क्षेत्र का है जहां एक पीड़ित महिला को अपने जान माल की सुरक्षा के लिए थाने पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए पूरी रात देना पड़ा धरना।गोरखपुर।सीएम सिटी में जहाँ एक पीड़ित महिला की फरियाद पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद सुनी और शुक्रवार की रात लगभग 2:30 बजे पुलिस ने 323, 504, 506 सहित कुछ अन्य धाराओं में पार्षद सहित अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया लेकिन पीड़ित परिवार मुकदमा दर्ज होने के बाद भी थाने पर डटे रहे हैं उनका कहना था कि हम घर नहीं जाएंगे क्योंकि घर पहुंचते ही हमारे साथ अनहोनी हो सकती है।पीड़ित महिला दिया ने बताया कि विगत 20 तारीख को उसकी सास ननंद और परिवार के अन्य सदस्यों ने मेरे पति की गैरमौजूदगी मुझे मारा पीटा जिसकी सूचना मैंने 112 नम्बर को दी थी।इस झगड़े में समाजवादी पार्टी के नेता और वर्तमान पार्षद सौरभ विश्वकर्मा मेरे घर आए और मेरी सास का पक्ष लेते हुए मुझे 1 हफ्ते के अंदर घर खाली करने के लिए कहा और ऐसा ना करने पर जानमाल की धमकी दी थी। जिसकी सूचना हमने स्थानीय थाना राजघाट पर जा कर दी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई जिसके बाद 22 तारीख को मैंने क्षेत्राधिकारी कोतवाली से मिलकर अपनी पीड़ा बताई तो उन्होंने राजघाट थाने को मुकदमा दर्ज करने के लिए कहा बावजूद इसके उस दिन राजघाट थाने से हमको यह कह कर घर भेज दिया गया कि अभी पुलिस जाएगी और तब देश करेगी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई फिर मेरे साथ कोई अनहोनी हो सकती है इसलिए मैं शुक्रवार की रात 8:30 बजे राजघाट थाने पर अपने प्रार्थना पत्र को लेकर फिर से आई और मुकदमा दर्ज करने का अनुरोध किया लेकिन मेरा मुकदमा रात के 2:30 बजे दर्ज किया गया फिर भी पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की पीड़ित महिला ने बताया कि मुझे स्थानीय पार्षद सौरव विश्वकर्मा से जान माल का डर है क्योंकि वह थाने के हिस्ट्रीशीटर भी है और कभी भी मेरे साथ कोई घटना करवा सकते हैं इसलिए जब तक मुझे न्याय नहीं मिलेगा मैं थाने से नहीं जाऊंगी।

आपको बता दे कि सपा नेता व पार्षद सौरभ विश्वकर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए शुक्रवार की रात बच्चों के साथ दंपत्ति राजघाट थाने में धरने पर बैठ गई आरोप है कि पार्षद सौरभ विश्वकर्मा उनका घर जबरन खाली करवा रहा है पुलिस शिकायत के बाद भी उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही थी बाद में पुलिस ने 2:00 बजे रात को मुकदमा दर्ज किया ।। मिर्जापुर मोहल्ला निवासी अश्वनी कुमार अपनी पत्नी चंदा देवी और डेढ़ साल की बच्ची को लेकर राजघाट थाने पर पहुंचे और पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाने लगाते हुए धरने पर बैठ गए उनका कहना है कि उनकी शादी वर्ष 2018 में दोनों के परिवार वालों की मर्जी से हुई शादी के दो माह बाद से ही मां सुनीता भाई अभिषेक अग्रहरी शिवम अग्रहरी व बहन मुस्कान उनको और उनकी पत्नी को तरह-तरह से प्रताड़ित करने लगे वह उनसे घर खाली करने का दबाव बनाने लगे 20 जुलाई को भी उन लोगों ने विवाद किया आरोप है कि वह वार्ड के पार्षद सौरभ विश्वकर्मा को बुला लाए पार्षद ने 1 सप्ताह में घर खाली करने की धमकी दी और नहीं खाली करने पर गोली मारने तक की धमकी दी उन्होंने उसी दिन थाने पर मां दोनों भाई बहन और पार्षद के खिलाफ तहरीर दी लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की शुक्रवार को उनकी गैरमौजूदगी में उन लोगों ने पत्नी की पिटाई की घर आने पर उनको जानकारी हुई तो वह थाने पर परिवार के साथ धरने पर बैठ गए उसके बाद पुलिस ने लगभग 2:30 बजे रात को पीड़ित का मुकदमा दर्ज कर लिया है और कार्रवाई का आश्वासन भी दिया है लेकिन पीड़ित परिवार अभी अपने घर जाने से डर रहा है और पुलिस से सुरक्षा की भी मांग कर रहा है फिलहाल अभी पीड़ित परिवार थाने पर ही मौजूद था।गौरतलब है कि मामला विगत 20 तारीख का है और लगभग 5 दिन हो गए हैं लेकिन पुलिस के द्वारा कोई कार्यवाही नहीं किया जाना किसी बड़ी घटना को दावत दे सकता है एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए संबंधित अधिकारियों से मीटिंग कर रहे हैं और पुलिस को पीड़ित के साथ न्याय करने की हिदायत भी दे रहे हैं बावजूद इसके अभी भी कुछ ऐसे पुलिसकर्मी सरकार की छवि को धूमिल करने का काम कर रहे है।चूंकि आरोपित व्यक्ति पहले से ही इस थाने का हिस्ट्रीशीटर है तो पुलिस क्यों एक बार उससे पूछताछ करने की जहमत नहीं उठाया और पीड़ित महिला को अपनी फरियाद के लिए थाने पर धरना देना पड़ा।फिलहाल इस संबंध में जब संबंधित पुलिस अधिकारियों से जानकारी लेनी चाही गई तो उन्होंने कुछ भी बोलने से मना किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *