उत्तर प्रदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की मां महागौरी व मां सिद्धिदात्री की आराधना

रिपोर्ट:-रविन्द्र चौधरी

 

 

शारदीय नवरात्र में जारी शक्ति उपासना के क्रम में मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को गोरखनाथ मंदिर के शक्तिपीठ में प्रातः सत्र में अष्टमी तिथि पर मां जगतजननी के अष्टम स्वरूप माता महागौरी तथा सायंकाल सत्र में नवम स्वरूप मां सिद्धिदात्री की विधि विधान से आराधना की। इसके साथ ही दुर्गा मंदिर शक्तिपीठ के गर्भगृह में श्रीमद् देवीभागवत का पारायण पाठ एवं श्रीदुर्गासप्तशती के पाठ का भी जारी रहा। दोनों पूजन सत्रों में आरती एवं क्षमा प्रार्थना के बाद प्रसाद का वितरण किया गया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार शाम से गोरखनाथ मंदिर में प्रवास कर रहे हैं। रविवार रात्रि उन्होंने महानिशा की विशिष्ट अनुष्ठान को पूर्ण किया था। सोमवार को प्रातः सत्र में उन्होंने मंदिर के शक्तिपीठ में मां भगवती के आठवें स्वरूप मां महागौरी की पूरे विधि-विधान से पूजा-अर्चना की।

सायंकाल के सत्र में माता के नवम स्वरूप माता सिद्धिदात्री का आवाहन पूजन अर्चन के साथ किया गया। दोनों सत्रों में करीब दो घंटे तक चली पूजा में मुख्यमंत्री ने गौरी-गणेश की आराधना के साथ सभी देव-विग्रहों का षोडषोचार भी पूजन किया। सनातन धर्म में माता महागौरी अत्यंत शुभता, उल्लास और ऊर्जा की अधिष्ठात्री देवी के रूप में प्रतिष्ठित हैं।

माता के नवम स्वरूप मां सिद्धिदात्री की मान्यता यश, बल, धन, वैभव दायिनी के साथ सर्व मनोकामना पूर्ण करने वाली देवी की है। गोरक्षपीठाधीश्वर एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दोनों सत्रों में आदिशक्ति की आराधना कर समस्त देशवासियों के जीवन में सुख, शांति, आरोग्य व समृद्धि की मंगलकामना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *