प्रदेश

मुरादाबाद जिला अस्पताल में दो पक्षों में जमकर मारपीट दबंगों ने अस्पताल की एंबुलेंस को भी तोड़ा

रिपोर्ट:-शारिक सिद्दीकी

 

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जनपद के मझोला थाना क्षेत्र में दो पक्षों में शराब पीने को लेकर विवाद हो गया जिसके बाद दोनों ही पक्षों को पुलिस थाने ले आई और मेडिकल के लिए दोनों पक्षों को जिला अस्पताल भेज दिया जहां सिविल लाइन थाना क्षत्रे के जिला अस्पताल में दोनों ही पक्षों ने एक दूसरे के जान के दुश्मन हो गए।

और अस्पताल परिषद को जंग का अखाड़ा बना दिया और दोनों ही पक्षों ने देखते ही देखते एक दूसरे की लाठी-डंडों से और ईंट पत्थरों से हमला कर दिया और घायलों को लाइक एंबुलेंस को भी तोड़ दिया, 1 दर्जन से अधिक लोग वीडियो में साफ तौर से मारपीट करते हुए दिख रहे हैं

मार पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरु कर दी है।

मुरादाबाद जनपद के मझोला थाना क्षेत्र में शराब के पीने को लेकर मामूली विवाद इतना बढ़ गया के दोनों ही पक्ष एक दूसरे के जान के दुश्मन बन गए और दोनों पक्षों में जमकर विवाद हो गया जिसकी जानकारी मिलते ही मझोला पुलिस दोनों ही पक्षों को पुलिस कार्यवाही करने के लिए मेडिकल कराने के लिए दोनों ही पक्षों को सिविल लाइन क्षत्रे के जिला अस्पताल भेज दिया।

जहां दोनों पक्ष अस्पताल में जाकर एक दूसरे के आमने सामने आ गए देखते ही देखते अस्पताल परिषद जन के अखाड़े में बदल गया दोनों ही पक्षों के हाथ में जो आया उन्होंने एक दूसरे पर हमला किया और वीडियो में साफ तौर से देखा जा सकता है दबंग एक युवक को कितनी बेरहमी से मार रहे हैं दबंगों ने एक युवक की सिर पर ईंट से हमला किया और वह बेहोश होकर नीचे गिर गया।

लेकिन उसके बावजूद भी दबंग लगातार उस पर वार करते रहे, दबंगों को पुलिस का कोई भी खास नहीं है जिसके चलते इतनी बड़ी घटना मुरादाबाद जिला अस्पताल में घटी है और साथी अस्पताल प्रशासन के सुरक्षा के दावों की पोल भी इस वीडियो में खुलती दिख रही है यह वीडियो एमरजैंसी वर्ल्ड में जाने वाले मुख्य गेट का है जहां पर हर वक्त सुरक्षा में गार्ड रहते हैं।

लेकिन वीडियो में दिख रहा विवाद काफी देर तक होता रहा लेकिन वहां मौजूद कोई भी सुरक्षाकर्मी नहीं दिखाई दिया इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि मुरादाबाद जिला अस्पताल और पुलिस विभाग कितने सक्रिय हैं क्योंकि महेश थोड़ी ही दूरी पर क्यों सिविल लाइन का ऑफिस महिला थाना और सिविल लाइन थाना है उसके बावजूद भी मुरादाबाद के जिला अस्पताल में सुरक्षाकर्मी मौजूद नहीं थे जिसकी वजह से इतना खतरनाक विवाद हुआ है।

दो पक्षों के विवाद में जिस घायलों को जिला अस्पताल लाया गया था उनकी दूसरे पक्ष ने जमकर पिटाई कर दी थी घायल से जब बात की तो उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि हम लोगों का कोई विवाद नहीं था वह सिर्फ अपने पिताजी के लिए ड्रिंक की बोतल लेने जा रहा था जब उन लोगों ने इस तरह हाथापाई और बदतमीजी चालू कर दी जिस की जानकारी घायल ने पुलिस को दी पुलिस ने दोनों ही पक्षों को मेडिकल के लिए अस्पताल भिजवा दिया जहां पर दूसरे पक्ष ने आकर मार पिटाई शुरू कर दी जिसमें एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया जिसका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।


दोनों पक्षों में हुई मारपीट को लेकर पुलिस अधिकारी कुलदीप सिंह का कहना है दो पक्षों में शराब पीने को लेकर विवाद हुआ था जिसके बाद इन दोनों ही पक्षों में जिला अस्पताल में मारपीट हुई है मामला संज्ञान में है और तहरीर लेकर आवश्यक कार्यवाही की जा रही है साथ ही मारपीट में एंबुलेंस जो टूटी है उसकी भी जानकारी कर कार्यवाही की जाएगी।


इस मारपीट में सबसे बड़ी लापरवाही पुलिस की दिखाई दे रही है क्योंकि मझोला क्षेत्र में जहां विवाद हुआ था अगर वहीं से पुलिस घायलों को अस्पताल लेकर आती तो इस तरीके की मारपीट नहीं होती और साथ ही जिला अस्पताल में पुलिस के सुरक्षा के दावों की पोल भी खोल कर रखती है क्योंकि पुलिस दावा करती है कि जिला अस्पताल में सुरक्षा के इंतजाम पूरे मोहिया हैं और अस्पताल प्रशासन भी लगातार पुलिस से सुरक्षा की मांग करता रहता है लेकिन इस वीडियो में साफ तौर से देख सकते हैं, दबंगों ने किस तरीके से एक पक्ष की जमकर पिटाई की है और युवक को पद मरी अवस्था में छोड़कर भाग गए हैं वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस कार्यवाही की बात कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *