प्रदेश

मुरादाबाद में दाखिले के लिये विकलांग ने सर्टिफिकेट बनवाया तो स्वास्थ्य विभाग ने विकलांग को दे दिया पागलपन का सर्टिफिकेट, नही हुआ ITI में दाख़िला

रिपोर्ट:-शारिक सिद्दीकी

 

मुरादाबाद में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से 23 साल के विकलांग जॉनी को ITI में एडमिशन नही मिल पाया है, दोनो पैरों से विकलांग जॉर्ज उर्फ़ जॉनी ने हाई स्कूल और इंटर की परीक्षा तो पास कर ली है, अब जॉनी अपने माता पिता का सहारा बनना चाहता है, जॉनी ITI की डिग्री लेकर पैदाइशी मिली अपंगता को पीछे छोड़ आत्मनिर्भर बनना चाहता है, ITI में एडमिशन के लिये जॉनी को विकलांग सर्टिफिकेट की ज़रुरत थी, जॉनी ने इसके लिये स्वास्थ्य विभाग में आवेदन किया था, स्वास्थ्य विभाग ने जॉनी को जो सर्टिफिकेट बनाकर दिया है, उसमे जॉनी को पागल घोषित कर दिया है, जिस कारण जॉनी को ITI में एडमिशन नही मिल पाया है, अब स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जांच कराकर सही सर्टिफिकेट बनवा कर ग़लती करने वाले स्टाफ़ पर कार्यवाही की बात कह रहे हैं।

मुरादाबाद के थाना सिविल लाइंस क्षेत्र में रहने वाले जॉर्ज उर्फ़ जॉनी पैदाइशी दोनो पैरों से विकलांग है, जॉनी ने विकलांग होने के बावजूद इंटर की परीक्षा पास कर अपने माता पिता का सहारा बनने का सपना देखा था, विकलांग कोटे से रेलवे में निकलने वाली नोकरी करने के लिये जरूरी इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के लिये एक इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन के लिये आवेदन किया था,

इंजीनियरिंग कॉलेज ने जॉनी से उसका विकलांग सर्टिफिकेट मांगा, जॉनी ने मुरादाबाद के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यलय में विकलांग सर्टिफिकेट के लिये आवेदन किया था, स्वास्थ्य विभाग ने जॉनी को दोनो पैरों से विकलांगता का सर्टिफिकेट देने के बजाय उसे पागल घोषित कर सर्टिफिकेट जारी कर दिया, जिसकी वजहा से जॉनी को इंजीनियरिंग कॉलेज ने एडमिशन देने से साफ़ इनकार कर दिया है, अब जब मामला मीडिया में आया, तब मुरादाबाद के CMO एम सी गर्ग ने कहा है कि उन्होंने जॉनी को बुलवाया है, उसका दूसरा सर्टिफिकेट बनवाकर दिया जाएगा, वहीं ग़लत सर्टिफिकेट बनाने वाले कर्मचारी पर भी जांच के बाद विभागीय कार्यवाही की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *