प्रदेश

मुरादाबाद में मीट का होटल संचालित करने वाले दबंग ने साधु की जमकर की पिटाई

रिपोर्ट:-शारिक सिद्दीकी

 

लगातार क्राइम का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है जिसकी जिम्मेदार उत्तर प्रदेश पुलिस है,पुलिस की लापरवाही के चलते साधु संतों के साथ भी घटनाएं बढ़ती जा रही है प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद एक साधु हैं और साधुओं की सुरक्षा के नियम मुख्यमंत्री ने सरकार में आने के बाद सभी पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए थे किसी भी दबंग द्वारा किसी भी साधु संत के साथ गलत व्यवहार ना करें लेकिन मुरादाबाद का यह जो मामला है इसमें साधु बीते 3 महीने से मुरादाबाद पुलिस को लगातार प्रार्थना पत्र दे रहा था लेकिन पुलिस ने साधु के दिए गए प्रार्थना पत्र पर कोई भी सुनवाई नहीं की जिसके बाद बीती 19 तारीख को साधु की जमकर पिटाई कर दी गई,।

जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है पुलिस अधिकारियों से जब इस घटना के बारे में जानकारी की तो एसपी सिटी अमित अनाद का कहना है घटना पुराना है बता कर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है, जबकि पुलिस की बहुत बड़ी लापरवाही सामने आई है क्योंकि साधु लगातार दबंग की शिकायत पुलिस से बार-बार कर रहा था जिसका खामियाजा साधु ने अपनी पिटाई से चुकाया यह प्रदेश पुलिस की कार्यप्रणाली,साधु प्रदेश के मुख्यमंत्री से इंसाफ की गुहार लगा रहा है अब क्या दबंग पर कार्यवाही होगी या किसी तरीके का मामला ही रहेगा।

मुरादाबाद जनपद के गुलाब बाड़ी थाना क्षेत्र में बने प्राचीन शिव मंदिर के साधु की दबंग ने जमकर पिटाई कर दी, पिटाई का वीडियो 19 अक्टूबर शाम का है,जो अब सामने आया है,मार पिटाई की जानकारी मिलते ही पुलिस के अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए,साधु ने अपने साथ हुई घटना की पुलिस को जानकारी दी,मौके पर पहुंची पुलिस ने कार्यवाही का आश्वासन देकर वहां से चले आए, लेकिन मुरादाबाद पुलिस के लापरवाह कर्मचारी और अधिकारियों की वजह से यह घटना हुई है।

अगर पुलिस इस मामले को पहले ही गंभीरता से लेती तो साधु के साथ दबंग इस तरीके का व्यवहार नहीं करते क्योंकि बीते 3 महीनों से साधु इसकी शिकायत पुलिस अधिकारियों से कर रहे थे लेकिन पुलिस ने और कोई सुध नहीं लिया अगर पुलिस पहले ही इस मामले को गंभीरता से लेती तो यह घटना नहीं होती,वीडियो में साफ तौर से देखा जा सकता है कि दबंग इस तरीके से साधु की जमकर पिटाई कर रहे हैं जो लोग बीच-बचाव कराने आ रहे हैं दबंग उन पर भी हावी होते दिख रहे हैं इससे साफ हो चुका है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री के दावों में कितनी सच्चाई है और प्रदेश में साधु कितना सुरक्षित है,साधु का आरोप है यह लोग मंदिर से कुछ दूरी पर अवैध कब्जा करके अपना खोगा चला रहे हैं जिसमें मीट भी बेचते हैं जिसकी शिकायत अधिकारियों से की लेकिन अधिकारियों ने इसकी कोई सुध नहीं ली।


वही जब थाना इंचार्ज से इस घटना के बारे में जानकारी की गई तो उन्होंने बताया कि वह मौके पर पहुंच गए थे और कार्यवाही की जा रही है,वहीं एसपी सिटी अमित कुमार आनंद से जब फोन से बात की तो उन्होंने कहा यह तो घटना बहुत पुरानी हो गई है इसमें कार्यवाही की गई है लेकिन कैमरे पर कोई भी बोलने को तैयार नहीं है क्योंकि पुलिस का एक बहुत बड़ा लापरवाह चेहरा इसमें सामने आ रहा है अगर पुलिस पहले ही इस मामले को गंभीरता से लेती साधु की शिकायतों पर कार्यवाही करती तो यह घटना नहीं होती,कार्यवाही ना होने पर हमारे द्वारा खबर चलाए जाने के बाद एसपी सिटी अमित कुमार आनंद ने बताया ठेले लगाने को लेकर विवाद हुआ था,जिस पर जांच कर कार्यवाही की जाती है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ साधुओं को सुरक्षा देने की बात करते हैं लेकिन मुरादाबाद पुलिस की लापरवाही के चलते एक साधु की जमकर पिटाई हुई है अगर मुर्दाबाद पुलिस पहले ही दबंग के खिलाफ कार्यवाही करती तो इस तरीके से साधु की पिटाई नहीं होती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *