प्रदेश

मुरादाबाद पुलिस कप्तान पर हमला करने के बाद किसान पुलिस के सामने दिल्ली के लिए हुए रवाना

रिपोर्ट:-शारिक सिद्दीकी

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जनपद के मूंढापांडे थाना क्षेत्र के टोल प्लाजा पर पुलिस ने पीलीभीत से दिल्ली जा रहे किसानों को रोक लिया,जिसके बाद आक्रोशित किसानों ने जमकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और टोल प्लाजा को पूरी तरीके से ब्लॉक कर दिया,टोल प्लाजा बंद होने के कारण दोनों तरफ वाहनों की लंबी-लंबी कतारें लग गई,।

किसानों द्वारा बंद कराए टोल प्लाजा को और हाईवे को खुलवाने के लिए भारी पुलिस बल भी मूंढापांडे टोल प्लाजा पहुंच गया,और किसानों के बीच पहुंचे दिल्ली के पूर्व विधायक और दिल्ली सिख गुरद्वारा मैनेजमेंट कमिटी के प्रमुख मनजिंदर सिंह ने की पुलिस अधिकारियों से वार्ता के बाद,किसानों ने 8 घंटे के बाद टोल प्लाजा को खाली करके दिल्ली के लिए रवाना हो गए,किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और रामपुर जनपद में किसानों द्वारा पुलिसकर्मियों से मारपीट भी की गई,जिसमें एसएसपी मुरादाबाद घायल हो गए।


मुरादाबाद के मूंढापांडे टोल प्लाजा पर किसानों द्वारा टोल प्लाजा को पूरी तरीके से ब्लॉक कर दिया,किसान पीलीभीत से दिल्ली जाने की मांग पर अड़ थे,लेकिन पुलिस प्रशासन ने किसानों को आगे बढ़ने नहीं दिया जिसके बाद आक्रोशित किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की है,किसानों द्वारा लगाए गए जाम से यात्री और मरीजों को भी काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा,जाम के कारण कई एंबुलेंस से जाम में फस गई,किसानों ने एंबुलेंस में लोगों को फंसा देख रास्ता दिलवाकर एंबुलेंस को निकलवा दिया लेकिन कुछ मरीज अपने निजी वाहन से भी अस्पताल जा रहे थे,जिन मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ा और घंटों तक जाम में फंसा ही रहना पड़ा,साथ ही साथ जरूरी काम से अपने घर से बाहर निकलने वाले यात्रियों को भी किसानों के विरोध प्रदर्शन में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।


किसानों द्वारा मूंढापांडे टोल प्लाजा को जाम करने की जानकारी मिलते ही दिल्ली से पूर्व विधायक और सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी के प्रमुख मनजिंदर सिंह मूंढापांडे टोल प्लाजा पहुंच गए और पुलिस अधिकारियों से वार्ता करने के बाद लगभग 8 घंटे बीत जाने के बाद किसानों को दिल्ली की ओर रवाना करा दिया है।


एसएसपी मुरादाबाद में घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कानून व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए पुलिस गई थी और किसानों से वार्ता की जा रही थी जिसके बाद कुछ लोग आक्रमण होने लगे उन लोगों को समझाने की कोशिश की गई,बाद में धक्का-मुक्की हो गई जिसके बाद हमने लोगों को वापसी करा आ गया है,यहां से उन्हीं लोगों को रवाना किया गया है जो लोग शांति पूर्ण रुप से जाएंगे और उग्र नहीं होंगे,इसमें कुछ लोग दिल्ली के रहने वाले हैं 100 से 150 की संख्या में लोग यहां से गए हैं।


मुरादाबाद पुलिस कप्तान के ऊपर हमला करने के बाद 100 से 150 किसान दिल्ली के लिए पुलिस के सामने हुए रवाना,पुलिस कर्मचारी हाथ बांधकर खड़े रहे और किसानों ने 8 घंटे तक टोल को पूरी तरीके से करा ठप जिससे काफी सारी समस्याओं का लोगों को करना पड़ा सामना,एसएसपी मुरादाबाद से जब इस बारे में पूछा गया तो एसएसपी ने अपना पल्ला झाड़ा और अपने आप को और साथी पुलिसकर्मियों को बचाते हुए दिखाई दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *