प्रदेश

मुज़फ्फरनगर के छपार थाना क्षेत्र के गाँव बसेड़ा में महिलाओ को लोन दिलाने के नाम पर लाखो की ठगी 

रिपोर्ट:-संजीव कुमार

 

मुज़फ्फरनगर के छपार थाना क्षेत्र के गाँव बसेड़ा में महिलाओ को स्वावलम्बी बनाने हेतू समूह बनाकर लोन दिलाने वाले फाइनेंस कंपनी के फर्जी प्रबंधक और कर्मचारी महिलाओ से लाखो रूपये डकार कर फरार हो गए,।

वंही अपने बैंक खातों में लोन की धनराशि न पहुंचने पर निराश महिलाओ ने ली  पुलिस की शरण।बसेड़ा गाँव की 40-50 महिलाओ ने फाइनेंस कंपनी के कर्मचारीयो के खिलाफ पुलिस में तहरीर देकर लगाई न्याय की गुहार।

मुज़फ्फरनगर में थाना छपार क्षेत्र के गाँव बसेड़ा में लोन दिलाने का सपना दिखाकर गाँव की लगभग 50 महिलाओ से लाखो की ठगी करने वाले फाइनेंस कंपनी के फर्जी एजेंट फरार हो गए।लोन के पैसे महिलाओ के खातों में नहीं आये है।

बेबस और निराश महिलाओ ने तीन एजेंटो के विरुद्ध पुलिस में तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है।मुज़फ्फरनगर के बसेड़ा गाँव की गरीब हरिजन बस्ती में 29 अक्टूबर को दो व्यक्ति पंहुचे और उन्होंने खुद को मधुर माही फाइनेंस कंपनी चैन्नई का एजेंट बताते हुए बेरोजगार महिलाओ के समूह को रोजगार करने के लिए 35,000 हजार रूपये का लोन देने की बात कही,।

वंही उन्होंने ये भी बताया कि लोन की अदायगी 24 माह में करनी होगी। लोन लेने की पात्र महिला को 1,520 रूपये फाइल चार्ज , आधार कार्ड,बैंक पासबुक,राशन कार्ड,पैन कार्ड इत्यादि पहचान के दस्तावेज भी जमा करने होंगे।

मोहन दुबे नाम के इस एजेंट ने महिलाओ को लोन का सारा प्लान समझाकर दो दिन बाद आने का आश्वासन देकर चले गए। दो दिन के समय के चलते गाँव की 40-50  महिलाओ ने 1,520 रूपये प्रति महिला के हिसाब से लाखो रुपया इकठ्ठा कर दिनांक 31 अक्टूबर को माहि फाइनेंस कंपनी से आये तीन एजेंटो को सौंप दिया जिस पर फाइनेंस कंपनी के एजेंटो ने सभी महिलाओ को दो दिन के अंदर उनकी पास बुको में 35,000 रूपये की धनराशि पहुंचने का आश्वासन दिया जिस पर सभी महिलाये बेसब्री से दो दिन बीत जाने का इन्तजार करने लगी।दो दिन बीत जाने के बाद जब महिलाओ ने कप्म्पनि के एजेंट मोहन दुबे के मोबाइल 7500590082 पर संपर्क करना चाहा तो वह निरंतर बंद आता रहा।और न ही इन एजेंटो का कोई सुराग ही मिला।

गाँव की गरीब और बेबस महिलाये अपनी मेहनत मजदूरी की कमाई के पैसे डूबने पर निराश नजर आ रही है क्योकि लोन के पैसो से किसी को रोजगार करना था तो किसी को बेटी की शादी,और किसी को पशु खरीदना था लेकिन इन महिलाओ का सपना उस समय टूट गया जब बैंक पास बुक में तो पैसे आये नहीं लेकिन इनकी जमा पूंजी भी लेकर यह ठग फरार हो गए गाँव की सभी महिलाओ ने इकठ्ठा होकर तीनो एजेंटो के खिलाफ तहरीर देकर एजेंटो का मोबाईल नंबर और दो मोटर साइकिलों के नंबर भी उपलब्ध कराते हुए कानूनी कार्यवाही किये जाने की माँग की है साथ ही अपनी रकम की वापसी के लिए भी पुलिस से गुहार लगाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *