फोटो

पति ने लगाया पत्नी के घरवालों पर ओनर किलिंग का आरोप, 23 दिन बाद महिला के शव को कब्र से निकाला गया

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जनपद के थाना नागफनी क्षेत्र में पुलिस ने कब्रिस्तान से 23 दिन बाद एक युक्ति का शव कब्र से निकाला है, मृतिका के पति ने पुलिस को तहरीर दी है जिसमें उसका आरोप है कि पत्नी के घर वालों ( ऑनर किलिंग ) ने ही उसकी पत्नी की हत्या की है, पुलिस ने मजिस्ट्रेट की देखरेख में युवती का शव कब्र से निकालकर पंचनामा भर के पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस आगे की कार्यवाही की बात कर रही है।

भले ही हमारा समाज एक नई सोच की तरह आगे बढ़ रहा है, लेकिन अभी भी बहुत सी घटनाएं ऐसी होती हैं जिन पर विश्वास नहीं होता ऐसा ही एक मामला मुरादाबाद जनपद में घटा है, जहां पति ने पत्नी के घरवालों पर ऑनर किलिंग का आरोप लगाया है,जिसकी शिकायत पीड़ित ने पुलिस से की है पुलिस ने शिकायत के बाद महिला का शव कब्र से 23 दिन बाद निकाला है, जिस को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है, पीड़ित इरफान का आरोप है उसकी पत्नी अक्शा अपने मैके में मौत से 10 दिन पहले रहने के लिए गई थी, लेकिन अक्शा के परिवार वालों ने इरफान को फोन पर जानकारी दी कि उसकी अचानक मौत हो गई है, जिसके बाद इरफान अपने पूरे परिवार के साथ अक्शा के घर पहुंच गया, जहां उसके परिवार ने आनन-फानन में मृतका के शव को दफना दिया, जिस पर इरफान को शक हो गया, जिसके बाद मृतका के पति ने मृतका के परिवार वालों पर ऑनर किलिंग का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत की है, जिसके बाद मजिस्ट्रेट और पुलिस की देखरेख में युवती के शव को कब्र से निकाला गया है और पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

कब्र से शव निकालने की परमिशन लेकर पहुंचे मजिस्ट्रेट और पुलिस अधिकारियों ने 23 दिन बीत जाने के बाद शव कब्र से निकाला और शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया पुलिस अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया युक्ति की मौत को संदिग्ध बताते हुए मृतका के पति ने पुलिस को शिकायत की थी जिसके बाद मजिस्ट्रेट से परमिशन लेने के बाद मजिस्ट्रेट,परिवार वालो और पुलिस की देखरेख में शव को निकाला गया है, और अग्रिम कार्यवाही की जा रही, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आरोप स्पष्ट हो पाएंगे,और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाए गई।

भले ही सरकार महिलाओं को सुरक्षा देने के लाख दावे कर रही हो और सरकार महिलाओं को जागरूक करने के लिए लगातार अभियान चला रही हो लेकिन महिलाओं पर हो रहे अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं, कभी महिलओं से शोहदे तंग करते हैं,तो कभी उनके साथ बदमाश छेड़छाड़ करते हैं, लेकिन मुरादाबाद की इस घटना से तो साफ हो गया कि समाज पता नहीं किस ओर जा रहा है, जहां पर एक पति ने अपनी पत्नी का मौत का जिम्मेदार पत्नी के परिवार वालों को ही बताते हुए तहरीर दी है, जिसके बाद शव कब्र से 23 दिन बीत जाने के बाद निकाला गया, लेकिन जिस तरीके से मृतका के पति ने आरोप लगाया है इससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं, अगर महिला की मौत के जिम्मेदार उसके परिवार वाले हुए तो स्थानीय पुलिस क्या अभी तक सो रही थी, जो उन्हें अपने यहां हुई इस घटना का पता ही नहीं चला, अगर मृतक का पति उसकी मौत पर सवाल खड़े नहीं करता तो म्रतक को उसका परिवार दफना कर चुका था, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही साफ होगा कि महिला की मौत कैसे हुई है,लेकीन पुलिस ने शव को कब्र से निकालकर शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस आगे की कार्यवाही की बात कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *