प्रदेश

पीलीभीत जेल में बंदियों ने बनाई अनोखे किस्म की राखी, कोई मास्क लगाये तो कोई राफेल की शक्लनुमा, आप खुद देखिये

रिपोर्ट:-सरताज सिद्दीकी

 

रक्षा बंधन पर पीलीभीत जेल के बंदियों ने राफेल और मास्क वाली राखियां बनाई है फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप भारत पहुंच चुकी है। पूरे देश में राफेल को लेकर चर्चा है सभी इसे लेकर गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं इस बीच उत्तर प्रदेश के पीलीभीत की जिला जेल के अधीक्षक की पहल पर यहां राफेल राखियां तैयार की गई हैं। लोगों की राफेल के प्रति भावनाओं को देखते हुए पीलीभीत के जेल अधीक्षक ने अपने कैदियों से राफेल व मास्क बाली राखी तैयार कर मार्केट में उतारी है।

भले ही इस बार कोरोना काल के चलते जेल में बंद भाइयो से बहनो की मुलाकात नही हो सकेगी लेकिन आज रक्षा बंधन पर्व को लेकर पीलीभीत की जेल एक बार फिर सुर्खियों में आ चुकी है क्योंकि जेल में बंद कैदी कोरोना काल में रक्षाबंधन के पवित्र त्यौहार पर काम आने वाली राखियां बनाई है। बाहर से आने वाले माल पर तमाम परेशानियों के चलते इन दिनों पीलीभीत की लोकल मार्केट में पीलीभीत जेल की बनी राखियां ही धूम मचा रही हैं,रक्षाबंधन के त्यौहार पर पीलीभीत जेल द्वारा बनाई गई राखियां ही लोगों के मन को भा रही हैं चीन से तनाव के बीच एक तरफ जनता जहां लोकल को वोकल बनाने का मन बना चुकी है। वहीं जेल की इन राखियों की कम कीमत भी ग्राहकों को लुभा रही हैं,पीलीभीत जेल में तैयार की गई राखी एकता का प्रतीक भी है इसे जेल में हिन्दू-मुस्लिम दोनों ने मिलकर बनाया हैं। कुल मिलाकर 14 लोग इस काम में लगाए गए थे। जिसमें महिला कैदी भी हैं,जेल में बनाई जाने वाली राफेल राखी व मास्क राखी बाजार में उतारी गई है। यहां देव स्टेश्नर्स के मालिक रवि शर्मा का कहना है कि ज्यादातर जेल में बनी राफेल राखी की डिमांड है बच्चों से लेकर जवान तक यही राखी पसंद कर रहे हैं। इस राखी की कीमत सिर्फ 20 रुपया रखी गई है। पीलीभीत जेल अधीक्षक अनूप मानव शास्त्री जेल में कुछ नया करने की कोशिश करते रहते हैं इसी कड़ी में उन्होंने कैदियों से राफेल नाम की राखी बनवाकर एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं और पीलीभीत जेल को आदर्श जेल बनानें में लगे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *