प्रदेश

पीलीभीत में मिशन शक्ति के तहत बीच बाजार में मनचलों द्वारा लड़कियों को छेड़छाड़ का बनाया गया डेमो लोगों में जागरूकता बढ़ाने का बेहतरीन है प्रयास

रिपोर्ट:-सरताज सिद्दीकी

 

पीलीभीत में मिशन शक्ति के तहत बीच बाजार मनचले द्वारा लड़कियों से छेड़छाड़ का डेमाे बनाया गया,मजे की बात यह रही की जब डेमाे बन रहा था ताे पब्लिक काे नही पता था।मनचला लड़कियों काे लगातार छेड़ रहा था।

लेकिन पब्लिक ने उसे राेकने की हिम्मत नही की, फिलहाल डेमाे काफी पंसद किया जा रहा है वही एसपी का कहना है कि लगातार इस तरह का अभियान चलाकर और डेमाे बनाकर लाेगाे काे जागरुक किया जाएगा।

मनचले द्वारा लड़कियों से छेड़छाड़ का यह नजारा पीलीभीत के बीसलपुर काेतवाली क्षेत्र का है,तस्वीराें मे देखिए बीच बाजार बाइक सवार एक मनचला दाे लड़कियों काे किस तरह छेड़ रहा है,लड़कियाँ चलती चली जा रही है वही इस मनचले की हिम्मत देखिए आगे पीछे चला पड़ा है।

आगे जाकर लकड़ियों ने हिम्मत दिखाई और पुलिस बुलाई 5 मिनट के अंदर पुलिस ने आकर इस मनचले काे दबाेच लिया है और जेल भेजने की तैयारी कर रही है।दरअसल यह नजारा मिशन शक्ति के तहत बनाया गया डेमाे था जिसे बीसलपुर पुलिस द्वारा क्षेत्र के ईदगाह चाैराहे पर फिल्माया गया है।

डेमाे मे जाे दाे लड़कियाँ है वह 2019 बैच की कृष्णा और प्रीति है और मनचला बनाया गया यह युवक का नाम दीपक है जाेकि बीसलपुर काेतवाली में सिपाही के पद पर तैनात है।इस डेमाे काे बीच बाजार फिल्माकर लाेगाे काे जागरुक किया गया है कि किस तरह वह इस मामले मे पुलिस की मदद ले और पुलिस कितने समय मे क्या कार्यवाही करेगी।हालाकि पुलिस कप्तान जयप्रकाश का कहना है कि आगे भी इस तरह के डेमाे काे बनाकर मिशन शक्ति अभियान चलाया जाएगा और लाेगाे काे जागरुक किया जाएगा।


शासन द्वारा चलाए जा रहे मिशन शक्ति अभियान के तहत पीलीभीत जनपद के 14 थानों पर गठित एंटी रोमियो स्क्वायड टीम द्वारा अभियान चलाया जा रहा है।वही महिला पुलिसकर्मी अपने-अपने थाना क्षेत्रों के विद्यालय,बाजार,गांव व कस्बों में बालिकाओं और महिलाओ से उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी हासिल कर उन्हें जागरूक कर रही है।

पुलिस अधीक्षक जय प्रकाश यादव के निर्देशन में यह अभियान चलाया जा रहा है।हेल्पलाइन नंबर-1090, 1098, 181, यूपी-112 और थानों पर गठित महिला हेल्प डेस्क के बारे में विस्तृत जानकारी दी जा रही है। बताया गया है कि यदि किसी भी महिला/बालिका के साथ कोई भी छेड़छाड़ या यौन उत्पीड़न करता है तो दिए गए नंबरों पर कॉल कर सहायता हासिल की जा सकती है। फोन करने वाली महिला व बालिका का नाम और पता गोपनीय रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *