प्रदेश

पीलीभीत नेपाल की रहने वाली दो नाबालिग बहनों से दुष्कर्म के मामले में 1 माह बाद भी नहीं दर्ज हो सकी रिपोर्ट एसपी ने थाना अध्यक्ष के खिलाफ दिए जांच के आदेश

रिपोर्ट:-सरताज सिद्दीकी

 

पीलीभीत में नेपाल की रहने वाली दो नाबालिग बहनों से दुष्कर्म के मामले में एक माह बाद रिपोर्ट दर्ज हो सकी है थाना अध्यक्ष द्वारा आरोपी पर मुकदमा देर से दर्ज करने के मामले में एसपी ने थानाध्यक्ष के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए हैं।दरअसल थाना हजारा क्षेत्र की रहने वाली दोनों नाबालिग लड़कियां अपने परिवार के साथ आरोपी सतनाम सिंह के घर रहकर मजदूरी कर अपना पालन पोषण करती थी।जिनका आरोप है कि 65 वर्षीय आरोपी मकान मालिक एक साल से उसकी बड़ी बहन के साथ दुष्कर्म करता रहा।जिससे उसकी तबीयत खराब हो गई,उसके बाद आरोपी ने छोटी बहन को अपना हवस का शिकार बनाया।जिसको लेकर जानकारी होने पर पीड़ित परिवार में थाने पर मामले की शिकायत की।पीड़ित परिजनों का आरोप है कि दो महीने से लगातार न्याय के लिए थाने के चक्कर काटने के बाद पीड़िता ने मामले की शिकायत तहसील दिवस में की थी। जिसके बाद 07 दिनों की चली जाँच के बाद पुलिस अधीक्षक ने आरोपी के खिलाफ थाने में गम्भीर धाराओं में केस दर्ज करवा कर रिपोर्ट न लिखने वाले थानाध्यक्ष के खिलाफ भी जांच कर कार्रवाई की बात कही है। वही आरोपी की अभी तक गिरफ्तारी नही हो पाई है।

प्रकाश ने बताया कि थाना हजारा के अन्तर्गत एक प्रार्थना पत्र के आधार पर 376 का अभियोग पंजीकृत किया गया है।इस प्रकरण की जांच क्षेत्राधिकारी पूरनपुर द्वारा की जा रही थी।जाँच के दौरान यह पता चला कि बच्चियों द्वारा समाधान दिवस में प्रार्थना पत्र दिया गया था।जिसको लेकर मामले में सभ्रांत व्यक्तियों द्वारा घटना का समझौता भी करवा दिया गया था,जो कि ग़लत था,थानाध्यक्ष को पीड़िता की तहरीर पर एफआईआर दर्ज करके जांच करनी चाहिए थी जो उसने नहीं किया फिलहाल मामले में केस दर्ज कर जांच की जा रही है।और लापरवाह थानाध्यक्ष के खिलाफ विभागीय जांच करवाकर उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *