फोटो

समाजवादी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष खुर्शीद मंसूरी के नेतृत्व मे प्रदेश सरकार की नीतियों के खिलाफ उपजिलाधिकारी को सौपा ज्ञापन

नजीबाबाद। समाजवादी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष के नेतृत्व मे सपा कार्यकताओ के द्वारा कस्बा साहनपुर मे सपा कार्यालय पर धरना प्रदर्शन कर महामहिम राज्यपाल महोदय को संबोधित उपजिलाधिकारी परमानंद झां व पुलिस क्षेत्राधिकारी गजेंद्र सिंह की मौजूदगी मे ज्ञापन सौपा। ज्ञापन मे अवगत कराया गया है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री जी ने सत्ता के दम पर में जिला पंचायत अध्यक्षों के चुनाव में धांधली करके सभी सीटों पर कब्ज़ा किया है। भारतीय जनता पाटीँ के द्वारा प्रदेश मे अलोकतांत्रिक आचरण से संवैधानिक संस्थाओं के लिए भी खतरा पैदा हो गया है। जनादेश का अपहरण करते हुए भाजपा के नेताओं के साथ प्रशासन के सहयोग से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों, प्रस्तावकों को बलपूर्वक नामांकन करने से रोका गया। समाजवादी पार्टी के नेताओं पर फर्जी मुकदमें लगाकर प्रताड़ित किया जा रहा है। दुःख और क्षोभ इस बात का है कि चुनाव प्रक्रिया को बाधित करने वालों पर अधिकारी अंकुश लगाने के बजाय मूकदर्शक बने रहे। निर्वाचन आयोग भी असहाय बना रहा और राजभवन ने भी मौन धारण कर रखा है।
जनता की अदालत से तिरस्कृत भाजपा ने बलरामपुर में जबरन अपनी जीत दर्ज कराने के लिए समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को नज़रबंद कर नामांकन पत्र छीन लिया। लोकतंत्र का गला घोंटते हुए ललितपुर में भी जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को नामांकन नहीं करने दिया गया। गोरखपुर में भाजपा के अवांछित तत्वों ने कलेक्ट्रेट के मुख्य गेट पर कब्जा कर लिया। नामांकन कक्ष जाने वाले हर प्वाइंट पर भाजपाई पहरा देते रहे। मुख्यमंत्री जी के गृह जनपद में इस तरह का अनैतिक आचरण होना शर्मनाक है। झांसी में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को नामांकन से रोका गया। समाजवादी पार्टी के पक्ष में जिला पंचायत सदस्यों की बहुमत संख्या होने के बावजूद यहां अलोकतांत्रिक आचरण पर प्रशासन निरीह बना रहा। वाराणसी में सत्ता के बल पर समाजवादी प्रत्याशी का पर्चा खारिज कर दिया गया।पुलिस की उपस्थिति में बस्ती में भाजपा के प्रत्याशी ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को खींचकर अपहरण का प्रयास किया। गाजियाबाद में नामांकन से पहले समाजवादी उम्मीदवार और प्रस्तावक का अपहरण कर लिया गया। बरेली में समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक पर जानलेवा हमला किया गया। बिजनौर में भी ब्लॉक प्रमुख की महिला प्रत्याशी का पर्चा छीना गया ।कई जिला के पुलिस और राजस्व के अधिकारी चुनाव में धांधली रोकने के बजाय उसमें अपनी सक्रिय भूमिका निभाते दिखाई दिए हैं। हम मांग करते है चुनाव में धांधली बन्द होनी चाहिए ।
उसके साथ साथ उत्तर प्रदेश में महंगाई आसमान छू रही है सरकार को इस तरफ सोचना चाहिए
महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार हो रहा है
किसानों के खिलाफ काला कानून वापस होना चाहिए ।समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं पर फ़र्ज़ी मुकदमे लिख दिए गए है।उनको सरकार को वापस लेना चाहिए ।पैट्रोल, डीज़ल पर सरकार को जनता को सब्सिडी देना चाहिए ।रसोई गैस के दाम कम करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार सब्सिडी देने का काम करे जिससे महंगाई पर काबू किया जा सके।अतः अनुरोध है उक्त ज्ञापन को संज्ञान लेते हुए उचित कार्यवाही करने की कृपा करे।इस अवसर पर डॉक्टर इस्लाम, शद्दन खान , अहसान मंसूरी, नोशाद, माजिद बैग, मुज्जफर हुसैन, कफील अंसारी, छोटे उस्ताद, अरशद मंसूरी, बब्लू, मास्टर हनीफ, आदिल अंसारी, सलमान राईन, शारिक खान, रियासत हुसैन, सुलेमान, फुरकान शेख, सरताज राईन, राजा बाबू, लईक मेम्बर, इसरार मलिक, अरुण प्रजापति, मुकेश रजपूत, नईम शेख, जाफर सलमानी , शहजाद माहीगिर आदि सपा कार्यकता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *