अन्तर्राष्ट्रीय

संयुक्त राष्ट्र संघ ने माना, सऊदी गठबंधन ने आम नागरिकों को बनाया निशाना

संयुक्त राष्ट्र संघ ने सऊदी गबंधन के हमलों में यमनी नागरिकों के मारे जाने की बात स्वीकार की है।

यमन की राजधानी सनआ के आवासीय क्षेत्रों पर सऊदी गठबंधन की भीषण बमबारी के बाद यमन के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत ने इन हमलों में आम नागरिकों के मारे जाने की बात स्वीकार की।

फ़ार्स न्यूज़ एजेन्सी की रिपोर्ट के अनुसार यमन के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत हैंस ग्राउंडबर्ग ने मंगलवार को अपने बयान में यमन की धरती पर हालिया सैन्य तनाव की निंदा करते हुए संघर्षरत पक्षों से झड़पों में कमी की मांग की है।

संयुक्त राष्ट्र संघ की सरकार वेबसाइट पर जारी होने वाले इस बयान में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत का कहना था कि यमन का हालिया तनाव, झड़पों को ख़त्म करने के लिए स्थाई राजनैतिक हल तलाश करने के प्रयासों को कमज़ोर करेगा।

उन्होंने अपने बयान में पिछले सप्ताह होने वाले तनाव को अब तक की सबसे बुरी स्थिति क़रार दिय और कहा कि इस तनाव की वजह से आम नागरिकों का जीवन ख़तरे में पड़ गया है।

यमन के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत हैंस ग्राउंडबर्ग ने पुष्टि की है कि सनआ के विरुद्ध सऊदी गठबंध के हमलों की वजह से आम नागरिक मारे गये हैं और राजधानी के आवासीय और आबादी वाले इलाक़ों को नुक़सान पहुंचा है। (AK)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *