प्रदेश

शादी के लिए जा रही बारात से 5 बारातियों को एसओजी ने उठाया अचानक खुशी का माहौल बदला गम में

रिपोर्ट:-शारिक सिद्दीकी

 

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जनपद के सिविल लाइन थाना क्षेत्र के आशियाना कॉलोनी में उस समय हड़कंप मच गया जब शादी के लिए जा रही बारात के 5 बारातियों को कुछ अज्ञात लोग एक गाड़ी में उठाकर ले गए जिसके बाद खुशी के माहौल गम में बदल गया आनन-फानन में पुलिस को घटना की जानकारी दी गई घटना की जानकारी मिलते ही पहुंची पुलिस ने परिवार वालों से जानकारी की और गायब हुए लोगों की तलाश में जुट गई।

इसी बीच जिन लोगों को उठाकर लेकर जाया गया था उसमें से एक युवक के पिता के फोन पर जानकारी मिली उनके बच्चों को एसओजी द्वारा ले जाया गया है जिस की जानकारी अपने फोन पर मिली जिसके बाद परिवार वालों का रो रो कर बुरा हाल हो गया और बरात को तब तक के लिए रोक दिया गया जब तक सब बाराती वापस ना आ जाए।

मुरादाबाद जनपद के आशियान क्षेत्र में दूल्हा का रो-रोकर उस वक्त बुरा हाल हो गया जब उसकी बरात में शिरकत करने आए उसके रिश्तेदारों को अज्ञात लोग उठाकर ले गए लेकिन कुछ देर बाद पता चला कि पुलिस उन्हें उठाकर लेकर गई है जिसकी जानकारी उनके ही परिवार के युवक ने फोन पर लड़के को दिया और पीड़ित परिवार ने एसओजी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए साथ ही पूरे परिवार में मातम छा गया बारात जाने के लिए बस आ गई और दूल्हा भी सजा हुआ था बराती भी सजे हुए थे लेकिन बरात इसलिए नहीं लेकर जाएगी क्योंकि बारात के साथ जाने वाले बारातियों को पुलिस अपने साथ ले गई थी।

जिसके बाद परिवार में कोहराम मच गया परिवार वालों ने आरोप लगाया है पुलिस बगैर किसी को जानकारी दिए ऐसे कैसे कर सकती है जबकि पुलिस अपने साथ तीन लड़कियों को भी बरात में से उठाकर लेकर गई है जबकि कोई महिला पुलिसकर्मी वहां मौजूद नहीं थी उसके बावजूद इन लोगों ने सभी से बदतमीजी और बदसलूकी की है।


मुरादाबाद जनपद में एक अजीब और गरीब मामला सामने आया है जहां एक बारात सिर्फ इसलिए रुकी हुई है कि उनके रिश्तेदारों को कोई उठा कर ले गया है लेकिन बाद में जानकारी करने पर यह पता चला कि उन लोगों को उठा के ले कर जाने वाली एसओजी पुलिस है जिसके बाद पीड़ित परिवार के लोग थाने की तरफ दौड़ पड़े और उन लोगों को चुराने के लिए हर संभव प्रयास करने लगे लेकिन फोन पर एक परिचित ने जानकारी देते हुए बताया कि उनके वहां शादी में आया युवक एक चोर था जिसको पुलिस अपने साथ लेकर गई है और गलतफहमी के चलते उसके साथ मौजूद लोगों को भी उठा के ले गई लेकिन कहीं ना कहीं जिस तरीके से परिवार आरोप लगा रहा है पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है जहां शादी समारोह सिर्फ इसलिए रोका जा रहा है कि पुलिस अपने साथियों को लेकर गई है अगर पुलिस सही जानकारी करती और पता कर सबको लेकर जाती तो इस तरीके से एक बार आपको जरूर करना नहीं पड़ता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *