उत्तर प्रदेश

समग्र शिक्षा अभियान के तहत 52 पूर्ण दृष्टिबाधित दिव्यांग बच्चों को जिलाधिकारी ने दिया स्पेशल टॉकिंग टैबलेट

ऑटो बिल्ड ऑडियो सिस्टम युक्त टैबलेट के जरिए दृष्टिबाधित दिव्यांग छात्र आसानी से कर सकेंगे पढ़ाई

06 से 14 वर्ष की आयु के बच्चों को निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा के तहत समग्र शिक्षा अभियान के अंतर्गत पूर्ण दृष्टिबाधित दिव्यांग छात्र-छात्राओं को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए यूनिसेफ के सहयोग से कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद के 52 पूर्ण दृष्टिबाधित दिव्यांग बच्चों को जिलाधिकारी श्रीमती श्रुति द्वारा स्पेशल टॉकिंग टैबलेट प्रदान किया गया।

इस अवसर पर यूनिसेफ के आरएन सिंह ने बताया कि समग्र शिक्षा अभियान के तहत बेसिक शिक्षा भाग के विद्यालयों में पढ़ रहे कक्षा- 1 से कक्षा- 3 के पूर्ण दृष्टिबाधित दिव्यांग छात्रो को टैबलेट प्रदान किया गया है। टैबलेट में स्पेशल ऑडियो क्लिप के माध्यम से बच्चे शैक्षिक सामग्री को सुन सकेंगे। यह मूल रूप से गणित और भाषा की दक्षताओं पर आधारित है। उन्होंने बताया कि दिव्यांग बच्चों को पढ़ाने के लिए जनपद में 33 एजुकेटर भी लगाए गए हैं।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि दिव्यांग बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जाए,कोई भी बच्चा दिव्यांगता की वजह से शिक्षा के अधिकार से वंचित ना हो। उन्होंने कहा कि दिव्यांग बच्चों में प्रतिभा की कोई भी कमी नहीं है बस उनको शिक्षा का समान अवसर मिले। उन्होंने सभी दिव्यांग एजुकेटर को घर घर जाकर दिव्यांग बच्चों को शिक्षित किए जाने का निर्देश दिया।

इस अवसर पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ रामचंद्र, जिला समन्वयक समेकित शिक्षा आभा त्रिपाठी, जिला व्यायाम शिक्षक राकेश गुप्ता, जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी अजीत सिंह, खंड शिक्षा अधिकारी मनीराम, कमलेश बहादुर सिंह मीरा सिंह व अन्य संबंधित अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *