प्रदेश

सिद्धार्थनगर में हो रहा है जमकर अवैध खनन, जिलाधिकारी बोले नही मिल रही शिकायत

रिपोर्ट:-डॉ बलराम त्रिपाठी

 

अबैध बालू खनन का खेल जिले में रुकने का नाम नही ले रहा है।अबैध बालू खनन होने से नदियों के आस पास के गाँवो में बरसात के समय बाढ़ का खतरा बना रहता है।अबैध तरीके से बालू खनन करने वाले माफिया हर वक्त इस अबैध धंधे के फिराक में लगे रहते हैं।जिले में बहने वाली बूढ़ी राप्ती,बाणगंगा कूड़ा,घोंघी नदी का जो हिस्सा मिश्रौलिया,मोहाना,शोहरतगढ़ व लोटन थाना क्षेत्र में पड़ता है वो इन खनन माफियाओ का अड्डा बन गया है।

वर्तमान समय मे इन नदियों के कई घाटों पर अबैध तरीके से बालू खनन का काम दिन हो या रात हमेशा जारी है।इन घाटो पर बालू खनन माफिया सक्रिय हैं और अनोखे तरीके से बालू खनन का काम कर रहे हैं।इन घाटों पर पहले बोरो से नदी के तट पर निकाल कर बालू नाव से इकट्ठा किया जाता है और फिर बैलगाड़ी,सायकिल और ट्राली में लोड कर सप्लाई की जाती है।

ट्राली से ये अबैध खनन का बालू 2हजार 5सौ रुपये और बैलगाड़ी से 8सौ रुपये में खुले आम बेचा जाता है।इस अबैध खनन में लिप्त लोगो के खिलाफ कार्यवाही न होना कही न कही अबैध बालू खनन को रोकने के लिये जो जिम्मेदार अधिकारी और कर्मचारी हैं उनके कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान भी खड़ा हो रहा है या यूं भी कहा जा सकता है कि बिना इनके मिली भगत के इस तरह से अबैध बालू खनन करना सम्भव नही है।अबैध बालू खनन का होना वीडियो में साफ दिखाई पड़ रहा है और जिले के जिलाधिकारी को इसके बावजूद भी शिकायत का इंतजार।बड़ी बात ये है कि जहां भी इस तरह का अबैध बालू खनन किया जा रहा है इनमें से कभी भी किसी घाट पर अब तक बालू खनन के लिये पट्टा नही किया गया है।

खुले आम हो रहे अबैध बालू खनन पर जिले के जिलाधिकारी का कहना है कि 3महीने बालू खनन का काम बंद है और कही से अबैध खनन की शिकायत नही मिली है फिर भी दिखवाएंगे।इसको रोकने और कार्यवाही करने के लिए निर्देश भी समय समय पर दिया जाता है और कार्यवाही भी की जा रही है।जिस तरह से स्थानीय पुलिस के मिली भगत से अबैध बालू खनन का खेल बिना किसी भय के होता वीडियो में साफ साफ दिख रहा है और जिलाधिकारी महोदय अभी शिकायत आने और जानकारी होने का इंतजार कर रहे हैं ऐसे में तो अबैध तरीके से बालू का खनन करने वाले खनन माफियाओं के हौसले और ही बुलन्द होगे।देखना होगा क्या जिलाधिकारी महोदय अबैध खनन के इस खेल पर अंकुश लगाने में कामयाब होते हैं या खनन माफिया ऐसे ही अबैध तरीके से नदियों का सीना चीर कर नदियों के आस पास के गाँवो को बाढ़ के मुहाने पर खड़ा करते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *