प्रदेश

सूबेदार मेजर कमल सिंह बुलंदशहर में क्रोना रोगियों को अपनी सेवा देते हुए हुए थे क्रोना संक्रमित अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से करो ना को किया परास्त

रिपोर्ट:-जावेद खान

 

बुलंदशहर वैश्विक महामारी कोरोना से समूचा विश्व प्रभावित हो रहा है।ऐसी विषम परिस्थिति में चिकित्सा कार्य से संलग्न लोगों की अति विशिष्ट भूमिका रही है।कोरोना पीड़ितों की सेवा करते हुए वे स्वयं भी संक्रमित हो जाते हैं। भारतीय सेना से अवकाश प्राप्त सूबेदार मेजर कमल सिंह ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक बुलंदशहर में रोगियों को अपनी सेवा देते हुए कोरोना से संक्रमित हो गए थे।उन्होंने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से कोरोना को परास्त किया। अब वह अपने अनुभवों के आधार पर लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करने की भूमिका निभा रहे हैं।

देश के एक आदर्श नागरिक होने का परिचय देते हुए अपने कोरोना संक्रमण काल मैं भी उन्होंने सरकार से अनुरोध करते हुए पीपीई किट पहनकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया तथा लोगों को अपने वोट की कीमत समझाने का प्रयास किया।इस आदर्श व्यक्तित्व तथा समाज सेवा की भावना को मान देते हुए रामकृष्ण शीलादेवी वेलफेयर ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ मनमोहन रोहिला एवं सचिव प्रियंका रोहिला ने उन्हें अभिनंदन पत्र देकर सम्मानित किया।डॉ मनमोहन रोहिला ने बताया कि ऐसे व्यक्तित्व समाज को नई दिशा देने का कार्य करते हैं।सूबेदार मेजर कमल सिंह ने बताया कि डॉक्टर साहब की संस्था के द्वारा जो सम्मान मिला है इससे मुझे भविष्य में समाज व देश के प्रति उत्कृष्ट कार्य करने हेतु प्रेरणा मिली है।बैठक का संचालन राकेश शर्मा जी द्वारा किया गया एवं बैठक की अध्यक्षता सुनील सक्सेना द्वारा की गई इस अवसर पर श्यौराज गिरी,सुनील सक्सेना,विनोद राणा आदि ने अपने विचार व्यक्त किए।कार्यक्रम के दौरान राकेश शर्मा,राम किशन सिंह,इंदू ,विनाका,कृष्ण कुमार,अजहर अब्बास, यशोदा सिंह,सर्वेश,सुनील वर्मा आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *