अन्तर्राष्ट्रीय

यमनियों की मार से बेहाल सऊदी अरब ने इस्राईल की ओर बढ़ाया मदद का हाथ, हुई गुप्त वार्ता, अहम समझौते की ख़बर

अमरीका की एक वेबसाइट का कहना है कि एयर डिफ़ेंस सिस्टम की ख़रीदारी के लिए सऊदी अरब और इस्राईल के बीच गुप्त वार्ता हुई है।

रक्षा मामलों की विशेष अमरीकी वेबसाइट Strategy Page ने लिखा है कि सऊदी क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान के निर्देश के बाद सऊदी अरब, एयर डिफ़ेंस सिस्टम की ख़रीदारी के लिए इस्राईल के साथ गुप्त वार्ता की है।

फ़ार्स न्यूज़ एजेन्सी की रिपोर्ट के अनुसार सैन्य मामलों की वेबसाइट ने अंतर्राष्ट्रीय कूटनयिकों के हवाले से बताया है कि सऊदी सरकार ने इस्राईल के साथ गुप्त ढंग से यह वार्ता अंजाम दी है।

अमरीकी वेबसाइट लिखती है कि सऊदी क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान ने इस्राईली एयर डिफ़ेंस सिस्टम विशेषकर ड्रोन विमानों का मुक़ाबला करने वाले सिस्टम की ख़रीदारी में बहुत दिलचस्पी दिखाई है और रियाज़ का एक उच्चस्तरीय शिष्टमंडल, सऊदी अरब की हवाई ताक़त को मज़बूत करने के लिए “फ़लाख़िन दाऊद” नामक एयर डिफ़ेंस सिस्टम ख़रीदने का प्रयास कर रहा है।

सऊदी सरकार इससे ज़्यादा सस्ता और कम क़ीमत का एयर डिफ़ेंस सिस्टम ख़रीदने का प्रयास कर रहा है ताकि यमनियों के मीज़ाइलों को रोकने और उनको निशाना बनाने पर सेना पर ज़्याद ख़र्च न आए।

रिपोर्ट में बताया गया है कि सऊदी अरब में लगे पैट्रियाट एयर डिफ़ेंस सिस्टम की क़ीमत 1 से 6 मिलियन डॉलर है। अमरीकी वेबसाइट में यह बताया गया है कि सऊदी अरब की सेना इसी तरह हवाई से ज़मीन पर मार करने वाले मीज़ाइल AMRAAM को जिसे जेट विमान से फ़ायर किया जाता है, बहुत से क्रूज़ मीज़ाइलों को इन्टरसेप्ट करने के लिए प्रयोग करती है और उनमें से हर मीज़ाइल की क़ीमत 5 लाख डॉलर है जो यमनियऔं के क्रूज़ मीज़ाइल से बहुत ज़्यादा मंहगी है। (AK)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *